अपनी डायट में शामिल करेंगे ये तीन रंग तो उम्र भर रहेंगे सेहतमंद पढ़िए, 2 मिनट में

नई दिल्ली : अगर आप खाने का भरपूर मजा और फायदा लेना चाहते हैं तो खाने को प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम के आधार पर नहीं बल्कि उनके रंगों के आधार पर कीजिए. रंगों के आधार पर खाने का चयन करने से ना सिर्फ आपरे दिमाग को संतुष्टि मिलती है बल्कि आप मन भी तरोताजा रहता है. एक्टपर्ट्स भी मानते हैं कि कलरफुल खाने से बॉडी को पूरी तरह न्‍यूट्र‍िएंट्स मिलते हैं. दरअसल फूड आइटम्‍स को रंग उनमें मौजूद न्‍यूट्र‍िएंट्स के आधार पर मिलते हैं. ऐसे में अगर कई रंगों को मिलाकर अपना मील प्लान किया जाए तो आपकी बॉडी को पूरी तरह से पोषण मिलता है.

वैसे भी आज 26 जनवरी के दिन पूरा देश गणतंत्र दिवस के रंग में रंगा हुआ है. गणतंत्र दिवस पर कहीं तिरंगे के रंग में रेलवे स्टेशन रंगा हुआ है तो कहीं पर तिरंगा फहराया जा रहा है. इसलिए आज हमको तिरंगा डायट के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपको सेहतमंद रखने में काफी सहायक साबित होगा.

केसरिया डाइट
केसरिया रंग यानि की नारंगी रंग के फल और सब्जिया खाने से दिमाग दुरुस्त रहता है. नारंगी नाम सुनते ही पहला ख्याल दिमाग में आता है वो फल है संतरा. संतरे में विटामिन डी मौजूद होता है जो स्किन और शरीर के अन्य हिस्सों में रक्त संचार का काम करते हैं. शरीर में विटामिन डी की कमी होने के कारण कई सारे रोग आपको घेर लेते हैं. रोजाना सिर्फ एक संतरे का सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. संतरा डायबिटीज के मरीजों के लिए बेहद ही अच्छा फल माना जाता है.

सफेद रंग की चीजें
सफेद रंग के खाद्य पदार्थ जैसे मशरूम, शलगम, अंडा सेहत के लिए बेहद ही फायदेमंद होते हैं. इन सभी चीजों में कैल्शियम, पोटेशियम, प्रोटीन और आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो आपकी बॉडी को हेल्दी रखने में मददगार साबित होती है. सफेद खाद्य पदार्थ को रोजाना डायट में इस्तेमाल करने से आपकी बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ती है.

हरे रंग की डाइट की खूबियां
हरे फल-सब्जियों में लूटीन व इंडोल नामक फायटोकेमिकल्स होते हैं, जो पेट के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं. हरे रंग की सब्जियां जैसे की पालक, मेथी, खीरा, लौकी इनमें फाइबर और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो पाचन तंत्र को मजबूत करता है. पाचन तंत्र के अलावा हरि सब्जियां आंखो के लिए फायदेमंद साबित होती हैं.zeenews

Close