उत्‍तर भारतीयों की सेक्‍स लाइफ दक्षिण से ज्‍यादा अच्‍छी, सर्वे में दावा

नई दिल्‍ली: भारत में सेक्‍स लाइफ पर हुए एक सरकारी सर्वेक्षण में चौकाने वाले तथ्‍य सामने आए हैं. इसमें बताया गया है कि देश में 30 साल की उम्र से पहले यौन संबंध बनाने वालों की तादाद 90 फीसदी के करीब है. सरकार ने नेशनल फैमिली हेल्‍थ सर्वे (NFHS)2015-16 में कराया था. इसमें बताया गया है कि पुरुषों ने पहली बार यौन संबंध 20 से 24 साल की उम्र में बनाए. वहीं महिलाओं के मामले में यह उम्र 15-19 वर्ष थी. उम्र में यह फर्क लड़के और लड़की की शादी की उम्र के हिसाब से है. इस मामले में शिक्षा का रोल सबसे बड़ा है. उच्‍च शिक्षा के लिए लोगों को ज्‍यादा समय तक कॉलेज में रुकना पड़ता है, उनकी शादी बाद में होती है. इसलिए उनके यौन संबंध बनाने की उम्र भी बदल जाती है. एक तथ्‍य यह भी निकला कि उत्‍तर भारतीयों की सेक्‍स लाइफ दक्षिण की तुलना में ज्‍यादा संतुलित है.

शादी पूर्व संबंध अब भी वर्जित
सर्वेक्षण में पाया गया कि भारत में शादी पूर्व संबंध को अब भी वर्जित माना जाता है.  15 से 24 साल की उम्र के 11 फीसदी पुरुष और 2 फीसदी महिला ही शादी पूर्व संबंध बना पाए थे. हालांकि छत्‍तीसगढ़ और मध्‍य प्रदेश में यह आंकड़ा क्रमश: 21.1 फीसदी और 20.7 फीसदी है. एनएफएचएस ने सर्वेक्षण के आंकड़े करीब एक लाख पुरुषों और महिलाओं से बात करने के बाद तैयार किए हैं.

उत्‍तर भारत में हरियाणा, पंजाब सबसे आगे
एनएफएचएस के मुताबिक उत्‍तर भारतीयों की सेक्‍स लाइफ दक्षिण भारत से ज्‍यादा संतुलित है. हरियाणा, पंजाब, छत्‍तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में सर्वेक्षण से पहले के 4 हफ्तों के अनुभव के बारे में पूछा गया था. लाइव मिंट में छपे सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक इसमें 55 फीसदी महिला व पुरुष का कहना था कि बीते 4 सप्‍ताह में उन्‍होंने यौन संबंध बनाए. मध्‍य प्रदेश और राजस्‍थान में भी यह प्रतिशत बेहतर था. वहीं राष्‍ट्रीय स्‍तर पर 47 फीसदी पुरुष और 48 फीसदी महिलाओं ने बीते चार हफ्ते में यौन संबंध बनाने की बात स्‍वीकार की.

zeenews

Close