बिलिंग, राजस्व संग्रहण एवं विद्युत आपूर्ति प्रभावी ढंग से करें



बिलिंग, राजस्व संग्रहण एवं विद्युत आपूर्ति प्रभावी ढंग से करें


प्रमुख सचिव, ऊर्जा ने की प्रदेश की विद्युत वितरण व्यवस्था की समीक्षा 


भोपाल : शुक्रवार, मई 29, 2020, 20:59 IST

प्रमुख सचिव, ऊर्जा श्री संजय दुबे ने कहा कि राज्य के बिजली वितरण क्षेत्र में वितरण ट्रांसफार्मरों की असफलता की दर का लक्ष्य 5 प्रतिशत रखा जाए। उन स्थानों को चिन्हित किया जाए जहॉं वितरण ट्रांसफार्मर बार-बार खराब हो जाते हैं। ऐसे स्थानों का परीक्षण कर तकनीकी सुधार करके वितरण ट्रांसफार्मर फेल होने से रोका जाए। उन्होंने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे एरिया का चयन करें जहॉं सकल तकनीकी एवं वाणिज्यिक हानियां (एटीएण्डसी) अधिक हैं।प्रमुख सचिव, ऊर्जा श्री संजय दुबे शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से तीनों विद्युत वितरण कंपनियों के कार्यक्षेत्र में बिजली वितरण व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। 

श्री दुबे ने कहा कि वितरण केन्द्रवार सुधार करें और सुधार के लिए अलग-अलग स्थानों और परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए रणनीति बनायें।  उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं देने एवं आबादी को 24 घण्टे तथा कृषि कार्यों को 10 घण्टे विद्युत प्रदाय करना राज्य शासन की प्राथमिकता है। 

प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री  दुबे ने अधीक्षण अभियंताओं को निर्देशित किया कि मैदानी अधिकारियों से लेकर क्षेत्रीय मुख्य अभियंता तक मैदानी दौरे करें और विद्युत सुधारों पर आवश्यक कदम उठायें। उन्होंने कहा कि यह कदम परिणाम मूलक होने चाहिए और उनके परिणामों से बिलिंग इफिशिएंसी, कलेक्शन इफिशिएंसी, प्रति यूनिट नगद राजस्व वसूली (सीआरपीयू) में सुधार दिखाई देना चाहिए। श्री दुबे ने बैठक में मुरैना, ग्वालियर, छतरपुर, पन्ना, जबलपुर, दतिया, बड़वानी, शाजापुर आदि वृत्तों की माइक्रो लेवल तक समीक्षा की और आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने प्रति यूनिट नगद राजस्व वसूली (सीआरपीयू) वृद्धि के लिए लक्ष्य और समयावधि भी निर्धारित की ताकि सुधारों के परिणाम जल्दी आ सकें।       प्रमुख सचिव ऊर्जा ने कहा कि बिजली के अवैध उपयोग की रोकथाम के लिए जूनियर इंजीनियर और लाइन स्टॉफ को उन्मुखीकरण (सेन्सीटाइज) किया जाए और मीटरीकरण पर जोर देते हुए कहा कि सभी शासकीय अथवा गैर शासकीय प्रतिष्ठानों को मीटरीकृत देयक प्रतिमाह समय पर दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बार सामान्य मॉनसून का पूर्वानुमान मौसम विभाग ने दिया है इसलिए बाढ़ और बारिश को देखते हुए बिजली के वितरण तंत्र का प्रभावी रूप से रख-रखाव  कर लिया जाए। रबी सीजन की तैयारियों के संबंध में तीनों वितरण कंपनियों के अधिकारियों से कहा कि वे प्रणाली के उन्नयन और अधोसंरचना के विकास के कार्य, क्षेत्र विशेष के लोड के अनुसार करें।  उन्होंने मीटर रीडिंग, बिलिंग और राजस्व वसूली पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विशेष गढ़पाले, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विकास नरवाल, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री किरण गोपाल, विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी ऊर्जा विभाग श्री प्रशांत कुमार चतुर्वेदी और उप सचिव ऊर्जा विभाग श्री एस.के.शर्मा उपस्थित थे।


राजेश पाण्डेय



Source link

Close