माँ नर्मदा कृषि कानूनों का विरोध करने वालों को सदबुद्धि दे



माँ नर्मदा कृषि कानूनों का विरोध करने वालों को सदबुद्धि दे – मंत्री श्री पटेल


कृषि मंत्री ने कृषि कानून के पक्ष में हण्डिया में रखा उपवास
 


भोपाल : गुरूवार, फरवरी 4, 2021, 20:28 IST

कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री श्री कमल पटेल ने आज नर्मदा के नाभि स्थल हरदा जिले के हण्डिया पहुँचकर केन्द्र सरकार के नवीन कृषि कानूनों के पक्ष में एक दिन का उपवास रखा। इसके पूर्व उन्होंने माँ नर्मदा की पूजा-अर्चना कर किसान कानूनों का समर्थन नहीं करने वालों को सद्बुद्धि प्रदान करने की प्रार्थना की। गुरुवार को कृषि मंत्री का भोपाल से हरदा मार्ग में विभिन्न स्थानों पर चना, मसूर, सरसों की खरीद गेहूँ के साथ करने के निर्णय के लिये विभिन्न स्थानों पर स्वागत किया गया।

 मंत्री श्री पटेल ने कहा कि तीनों कृषि कानून राष्ट्र हित में है। इन कानूनों से किसानों की आर्थिक स्थिति में गुणात्मक सुधार आयेगा तथा किसान अपनी उपज का सही दाम प्राप्त कर सकेंगे। साथ ही किसान कृषि के साथ-साथ अपना व्यापार एवं उद्योग भी करेंगे। उन्होंने कहा कि विपक्ष के साथ-साथ कुछ संगठन इस कानून के संबंध में भ्रम फैला रहे हैं। केन्द्र सरकार ने किसानों के कल्याण के लिये कृषि कानून बनाकर किसानों को उद्योग, व्यापार के क्षेत्र में बराबरी पर लाने का प्रयास किया है। विपक्षियों और कृषि कानूनों का विरोध करने वालों को इसकी बारीकियों को समझना होगा। उन्हें इसमें बाधक नहीं बनना चाहिये, बल्कि इसका समर्थन करना चाहिये।

कृषि मंत्री श्री पटेल ने माँ नर्मदा के समक्ष उपवास रखकर उम्मीद जताई कि इसके बाद कृषि कानूनों का समर्थन नहीं करने वाले किसान संगठन के नेताओं को सद्बुद्धि मिलेगी। उन्होंने कहा कि नवीन कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन को समाप्त होना चाहिए, ताकि किसान नये कानूनों से लाभान्वित होकर आर्थिक रूप सक्षम और आत्म-निर्भर बन सके। श्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत ग्रामीण आबादी को भू-स्वामित्व का अधिकार दिया है। इससे ग्रामों की तकदीर बदलेगी, किसानों की आमदनी दोगुनी होगी, ग्रामीण मजदूरों को काम मिलेगा।

श्री पटेल ने कहा कि सरकार पहली बार समर्थन मूल्य पर सरसों, मसूर और चना की खरीदी गेहूँ के साथ प्राथमिकता के साथ करने जा रही है। इससे किसानों को अपनी उपज बेचने में आर्थिक नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा। सरकार द्वारा कृषि  बीमा, कृषि उपज में हानि होने पर मुआवजा, कीट प्रकोप राशि, किसानों को जीरो प्रतिशत पर ऋण जैसे अनेक ऐतिहासिक किसान हितैषी निर्णय लिए हैं। 

कार्यक्रम में खातेगांव विधायक श्री आशीष शर्मा, मांधाता विधायक श्री नारायण पटेल, हाटपिप्लिया विधायक श्री मनोज चौधरी एवं गंजबासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन उपस्थित रहे।

मंत्री श्री पटेल का चने से किया गया तुलादान

किसान कल्याण तथा कृषि मंत्री श्री कमल पटेल का देवास जिले के नेमावर के किसानों द्वारा चना, मसूर, सरसों की उपज का गेहूँ के साथ उपार्जन करने के सरकार के निर्णय के लिये अभिनंदन किया गया। किसानों ने हर्षोल्लास के साथ कृषि मंत्री का चने के साथ तुलादान किया।


अलूने



Source link

Share and Enjoy !

0Shares
0 0
Close