Dengue Diet: Know What Should Be In Your Diet And What Should Not Be Done To Recover From Dengue Fever Soon


डेंगू बुखार से हर साल एक बड़ी आबादी प्रभावित होती है. नेशनल वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम के आंकड़ों के मुताबिक इस साल 30 सितंबर तक 16,439 लोग डेंगू से संक्रमित हो चुके हैं. डेंगू बुखार की रोकथाम के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए हर साल कई अभियान भी चलाए जाते हैं. अगर आप या आपके परिवार का कोई सदस्य डेंगू बुखार से पीड़ित है, तो आपको यकीनन पूरी तरह से ठीक होने के लिए सावधान रहने की जरूरत है. दवाओं के अलावा, आपकी डाइट डेंगू बुखार से जल्द से जल्द रिकवर होने में अहम रोल निभाती है. भोजन में सही प्रकार के खाद्य पदार्थों का होना बेहद जरूरी है. तो चलिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि डेंगू डाइट में क्या होना चाहिए और क्या नहीं होना चाहिए.

पपीते के पत्ते का जूस

पपीते के पत्ते का जूस डेंगू बुखार में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली रेमिडी है. पपीते के पत्ते का जूस डेंगू बुखार का इलाज करने में प्रभावी तरीके से काम करता है, यह प्लेटलेट्स को बढाने के साथ ही इम्यूनिटी को भी ठीक करता है. पपीते के पत्ते लें और जूस बनाने के लिए उसमे कुछ पानी मिलाएं और इन्हें मिक्सी जार में पीस लें. बेहतर परिणाम के लिए इस जूस को दिन में दो बार पीना चाहिए.

ताजा सब्जियों का जूस

ताजा सब्जियों के जूस मे भरपूर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं. आप अपनी पसंद की सब्जियों को मिलाकर इसे आसानी से बना सकते हैं. इस जूस में नींबू का रस मिलाने से विटामिन-C तो मिल ही जाता है साथ ही जूस का स्वाद भी बढ़ जाता है.

हर्बल टी

हर्बल टी पोषक तत्वों से तो भरपूर होती ही है यह स्वास्थ्य के लिहाज से भी काफी अच्छी होती है. आप इलायची, अदरक और दालचीनी की चाय इसमें ले सकते हैं. हर्बल टी का ताजा स्वाद आपके मन को भी तरोताजा कर देता है.

नीम के पत्ते

नीम के पत्ते औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं और डेंगू के रोगियों के लिए सुपर फायदेमंद होते हैं. नीम का रस वायरस के विकास और प्रसार को नियंत्रित करने में मदद करता है.

हल्दी

हल्दी एंटीसेप्टिक और मेटाबॉलिज्म बूस्टर है. डॉक्टर भी हल्दी वाले दूध को पीने की सलाह देते हैं. हल्दी तेजी से रिकवरी करने में मदद करती है. अगर आपको हल्दी का दूध पसंद नहीं है तो आप हल्दी का पानी भी पी सकते हैं.

आंवला

आंवला हमारी इम्यूनिटी को बढ़ाता है. इसमे विटामिन- ए और सी होता है जो प्लेटलेट्स के लिए अच्छा होता है. यह एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो तनाव के जोखिम को तो कम करता ही है साथ ही बीमारी से रिकवरी में भी मदद करता है.

चिकन सूप

ऐसे कई सबूत हैं जो यह साबित करते हैं कि चिकन सूप कोल्ड और फ्लू के लक्षणों को रोकने में अद्भुत तरीके से काम करता है. यह शरीर को हाइड्रेट भी रखता है और वायुमार्ग के तापमान को भी बढ़ाता है जिस वजह से बलगम ढीला हो जाता है.

डेंगू बुखार के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए

कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हैं जो डेंगू बुखार के लिए सबसे खराब हैं इसलिए इनका सेवन नहीं करना चाहिए. इस लिस्ट में तैलीय और तले हुए खाद्य पदार्थ, कैफीन, कार्बोनेटेड पेय, मसालेदार भोजन और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ शामिल हैं.

ये भी पढ़ें

Coronavirus: खुद को दूसरी बार संक्रमित करने वाले वैज्ञानिक ने कहा- हर्ड इम्यूनिटी की उम्मीद बेकार

Winter Diet: इम्यूनिटी समेत इन वजहों से तिल के लड्डू को बना सकते हैं डाइट का हिस्सा



Source link

Share and Enjoy !

0Shares
0 0
Close