Health Tips Makhana Has Amazing Health Benefits This Is How It Helps In Kidney Related Ailments


Health Tips: मखाने सेहत के लिए बेहद लाभकारी होते हैं. मखाना एक ऐसा पौष्टिक फल है, जो शरीर को न केवल ऊर्जा देता है, बल्कि काफी स्वादिष्ट भी होता है. सूखे मेवे में शामिल होने वाले मखाना को, भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में इस्तेमाल में किया जाता है. इनमें सोडियम, कैलोरी और फैट की मात्रा कम होती है. अगर आप मखाने को नियमित तौर पर अपनी डाइट में शामिल करते हैं तो आपको कई रोगों से छुटकारा मिलने के साथ ही अनगिनत स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं. मखाने खाने से लंबे वक्त तक पेट भरे होने का असहास होता है जिसकी वजह से अनहेल्दी चीजों के लिए क्रेविंग नहीं होती. मखाने में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है. पेट की समस्याओं से लेकर दिल की बीमारियों तक में मखाने बेहद फायदेमंद होते हैं. आइए जानते हैं मखाने कैसे खाने चाहिए और किन बीमारियों से ये आपको दूर रखते हैं.

क्या आप जानते हैं कि कमल के बीज को ही मखाना कहते हैं? जी हां, यह कमल बीज ही होता है. यह तालाब के कीचड़ में उगता है. इसकी उपज आसान नहीं होती है. किसानों को इसके लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। साथ ही उपज होने के बाद भी इसके निर्यात में काफी कठिनाई होती है. वज़न में काफी हल्का और उजले रंग का होने के कारण इसे रूई फल भी कहा जाता है.

मखाने के फायदे-

ब्लड प्रेशर में लाभदायक

इसमें पाया जाने वाला एक विशेष एल्केलाइड हाइपरटेंशन की समस्या को नियंत्रित करने का काम करता है. हाइपरटेंशन के कारण ही हाई ब्लड प्रेशर की समस्या जन्म लेती है. इसलिए माना जा सकता है, कि इसका उपयोग बीपी की समस्या को नियंत्रित करने में सहायक साबित हो सकता है.

वजन घटाने में मददगार

मखाना में एक खास तत्व एथेनोल पाया जाता है. और इस कमल के बीज से निकाले गए एथेनोल के प्रयोग से मोटापा संबंधी कारकों को नियंत्रित करने में काफी हद तक सफलता मिल सकती है. इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है, कि इसका उपयोग वजन को कम करने में सहायक साबित हो सकता है.

दिल का रखे ख्याल

मखाना खाने के फायदों में हृदय स्वास्थ्य भी शामिल है. कारण यह है, कि इसमें पाए जाने वाले एल्केलाइड और कुछ खास पोषक तत्व दिल संबंधित जोखिम को कम करने का काम करते हैं. कमल के कई भागों जैसे:- पत्ती, फल, फूल और बीज आदि का उपयोग हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी साबित हो सकता है.

प्रोटीन का अच्छा स्रोत

मखाने में प्रोटीन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. इसलिए कहा जा सकता है, कि मखाना खाने के फायदों में प्रोटीन की कमी को पूरा करना भी शामिल है. इसके नियमित उपयोग से शरीर में प्रोटीन की आवश्यक मात्रा की पूर्ति के साथ, उसकी कमी से होने वाली कई समस्याओं को भी दूर किया जा सकता है.

किडनी के लिए फायदेमंद

मखाने में एल्कलॉइड, लियेंसिनिन, आइसोलीएन्सिन, और नेफेरिन जैसे तत्व पाए जाते हैं. ये सभी तत्व लिवर से जुड़े जोखिम कारकों को कम करने में मदद करते हैं. इससे लिवर बेहतर तरीके से काम करता है. लिवर ही है, जो खून को रिफाइन करने का काम करता है और बाद में खून किडनी तक पहुंचता है. इस प्रकार इन तत्वों का प्रभाव लिवर के साथ-साथ किडनी से संबंधित जोखिमों को कम करने में भी देखा जा सकता है. इस लिहाज से कहा जा सकता है कि मखाने का नियमित उपयोग किडनी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

एंटी-एजिंग प्रभाव

विशेषज्ञों के मुताबिक मखाने में स्किन को सुरक्षित रखने और अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने वाले गुण पाए जाते हैं. वहीं शोध में इस बात की भी पुष्टि की गई है, कि मखाने की चाय त्वचा संबंधित समस्याओं जैसे :- फोटोएजिंग (अल्ट्रा वायलेट इफेक्ट) और रेगुलर एजिंग (उम्र से संबंधित विकार) से त्वचा की रक्षा करने में सहायक सिद्ध हो सकती है.

डायरिया और लूज मोशन में मखाने के लाभ

मखाने में एंटी-डायरियल प्रभाव पाए जाते हैं. इस कारण ऐसा कहा जा सकता है, कि इसका इस्तेमाल डायरिया अथवा लूज मोशन की समस्या से निजात दिलाने में लाभकारी साबित हो सकता है.

मसूड़ों को करता है मजबूत

मखाने में कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और जिंक के साथ-साथ विटामिन-ए पाया जाता है. यह सभी तत्व मसूड़ों के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी माने जाते हैं. वहीं मखाने में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल प्रभाव पाए जाते हैं. मखाने में पाए जाने वाले यह दोनों गुण मसूड़े संबंधित सूजन और बैक्टीरियल प्रभाव के कारण होने वाली सड़न को रोकने में मददगार साबित हो सकते हैं.

कब्ज में मखाना खाने के फायदे

मखाने का उपयोग कब्ज की शिकायत को दूर करने में भी सहायक माना जाता है. मखाने में कई उपयोगी पौष्टिक तत्वों के साथ प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. फाइबर कब्ज की शिकायत को दूर करने में सहायक साबित होता है. इसलिए कहा जा सकता है, कि मखाने का उपयोग कब्ज की शिकायत से छुटकारा पाने का एक उत्तम उपाय है.

डायबिटीज में मखाने के फायदे

डायबिटीज की समस्या से राहत पाने के लिए भी मखाने का उपयोग किया जा सकता है. मखाने में पाए जाने वाले रेजिस्टेंस स्टार्च में हाइपोग्लाइसेमिक (ब्लड शुगर को कम करने वाला) प्रभाव पाया जाता है. साथ ही यह भी पाया गया, कि इसका नियमित उपयोग शरीर में इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित करने के साथ-साथ उसे बढ़ाने का भी काम करता है.

गर्भावस्था में मखाना खाने के फायदे

फोलिक एसिड, आयरन, जिंक और कैल्शियम जैसे कई ऐसे पोषक तत्व हैं, जिनकी गर्भावस्था के दौरान एक महिला को बहुत आवश्यकता होती है. यह सभी पोषक तत्व मखाने में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इस कारण ऐसा माना जा सकता है, कि मखाना खाने के फायदे में गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्वों की कमी को पूरा करना भी शामिल है.

अनिद्रा में मखाने के लाभ

नींद न आने की समस्या में मखाना खाने के लाभ की बात करें, तो ऐसा माना जाता है कि इसमें कुछ खास एल्केलाइड पाए जाते हैं. इनकी मौजूदगी के कारण मखाना खून को साफ करने, शरीर को ठंडा करने, तंत्रिका संबंधी विकारों को दूर करने के साथ-साथ अनिद्रा और बेचैनी जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सहायक माना जाता है.

झुर्रियों को करता है कम

मखाने में कई एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. मखाने में पाए जाने वाले सभी एंटीऑक्सीडेंट त्वचा के लिए सिनेर्जेटिक इफेक्ट (मिश्रित प्रभाव) प्रदर्शित करते हैं। यही प्रभाव त्वचा पर आने वाली झुर्रियों को दूर करने में मददगार साबित होता है.

स्ट्रेस करे दूर

आजकल की दिनचर्या में तनाव मुक्त रहना मुश्किल है, ऐसे में मखाना हमारे लिए काफी मददगार साबित होता है. ऐसे में कई बार हम इमोशनल ईटर बन जाते हैं और कुछ भी खाने लग जाते हैं, जिससे हमारा स्वास्थ्य ख़राब होता है. डॉक्टर कहते हैं कि मखाना उस स्ट्रेस को कम करता है और आपको ख़राब खाने से बचाता है. इस वजह से भी मखाना खाने की सलाह दी जाती है.

Chanakya Niti: पति और पत्नी के बीच कभी नहीं होगी तकरार, जानिए क्या कहती है आज की चाणक्य नीति



Source link

Share and Enjoy !

0Shares
0 0
Close