Health Tips These 5 Bad Habits Of Young Age Can Later Affect Your Heart Health


Health Tips: शरीर में दिल वो अंग है, जिसके काम काज में थोड़ी सी भी गड़बड़ी का होना आपके पूरे शरीर को प्रभावित कर सकता है. दिल को सेहतमंद रखने के लिए सबसे ज़रूरी है अपने रूटीन और खान-पान को ठीक रखना. वहीं बचपन से लेकर जवानी तक किए गए काम और हेल्दी रूटीन भी इसे सेहतमंद रखने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं. जी हां, सेहत एक दिन की बात नहीं है. ये लंबे समय तक की जाने वाले सतत प्रक्रिया है यानी कि आपकी जवानी की गलतियां आपको भविष्य में परेशान करने का काम कर सकती हैं. यही चीज़ दिल की सेहत से भी जुड़ी हुई है. दरअसल अगर आप 20 से 30 साल की उम्र में एक खराब लाइफस्टाइल और डाइट को फॉलो करते हैं, तो आगे चलकर ये आपको धमियों से जुड़े विकार, सीने में दर्द या यहां तक कि हार्ट अटैक का शिकार बना सकते हैं. तो आज हम आपको ऐसी ही 5 चीजों के बारे में बताएंगे, जिसे आपको जवानी में करने से बचना चाहिए.

1. फलों और सब्जियों को नज़रंदाज़ करना

अगर आप फल और सब्जी को बहुत कम खाते हैं, तो समझ लें कि आपने कई सारी बीमारियों को बुलावा दे दिया है. 2014 के एक मेटा-विश्लेषण में पाया गया कि दिन में सिर्फ पांच सर्विंग फल और सब्जी खाने से दिल की बीमारी से मरने का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो सकता है. वहीं जो लोग अपने खाने में फलों और सब्जियों को कम रखते हैं उन्हें मोटापा और ब्लड प्रेशर से जुड़ी बीमारियां आसानी से पकड़ती हैं, जो कि दिल की बीमारियों को ट्रिगर करने का काम करती हैं.

2. ज़्यादा स्ट्रेस लेना

नौकरी और करियर को लेकर जवानी के दिनों में अक्सर संघर्ष लगा ही रहता है. पर अभी से ज़्यादा स्ट्रेस लेना आपको बीमार कर सकता है. वहीं ये हाई ब्लड प्रेशर और बहुत ज़्यादा गुस्सा आने से जुड़ी परेशानियों को पैदा कर सकता है. खासकर तब, जब आप इसे समय के साथ बढ़ने देते हैं. दरअसल लंबे समय तक तनाव से कोर्टिसोल का उच्च स्तर आपके रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को बढ़ाकर हृदय रोग के जोखिम को बढ़ा सकता है. ऐसे में आपको स्ट्रेस मैनेजमेंट सीखना चाहिए, योग करना चाहिए और दिमाग को शांत रखने की कोशिश करनी चाहिए.

3. बैठे रहना और शारीरिक कामों को कम करना

आपने कई बार अपने बड़े-बूढ़ों से सुना होगा कि जवानी में बैठे रहना बुढ़ापे में परेशानी का सबब बन जाता है. ये कथन सेहत के लिहाज से शतप्रतिशत सही है. जो लोग ज़्यादा समय बैठे रह कर गुजारते हैं, उन्हें दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा ज़्यादा होता है. दरअसल, बैठे रहने से आपका ब्लड सर्कुलेशन खराब हो जाता है और धमनियां सिकुड़ने लगती हैं, जिससे दिल पर दबाव पड़ता है. एनल्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित 2015 के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि लंबे समय तक बैठे रहने से हृदय रोग का खतरा 14 प्रतिशत तक बढ़ सकता है. इसलिए कोशिश करें कि अगर आपकी डेस्क जॉब भी है, तो बाकी समय चलने-फिरने वाली गतिविधियों में ज़्यादा से ज़्यादा भाग लें.

4. खराब ओरल केयर

आपको जान कर ये हैरानी होगी कि पर आपका डेंटल केयर आपके दिल की सेहत से जुड़ा हुआ है. जी हां, दरअसल जो लोग फ्लॉसिंग से बचते हैं उनमें पीरियडोंटल बीमारियां बढ़ती हैं. मसूड़ों की बीमारी वाले लोगों में दिल के दौरे, स्ट्रोक और हृदय संबंधी घटनाओं का खतरा अधिक होता है. पीरियडोंटल बीमारी आपके शरीर में सूजन और आपके रक्तप्रवाह में सूजन के मार्करों को बढ़ाती है, जो हृदय रोग के प्रमुख कारण बन जाते हैं. इसलिए अपने दिल की सेहत के लिए जल्दी-जल्दी ब्रश न करें और फ्लॉसिंग को न भूलें.

5. स्मोक करना और कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना

स्मोकिंग हमेशा से ही दिल की सेहत के लिए नुकसानदेह रही है. ऐसे में ज़रूरी ये है कि आप अपने स्मोकिंग की आदत को छोड़ दें. चाहे बात शरीब पीने की हो या सिगरेचट पीने की ये हर तरह से दिल की सेहत के लिए सही नहीं है. ये हार्ट अटैक के खतरे को तेज़ी से बढ़ाती है. वहीं महिलाओं द्वारा कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना भी दिल की सेहत के साथ छेड़छाड़ करने की अनुमति देता है. दरअसल ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना आपके रक्तचाप को बढ़ा सकता है और यहां तक कि ये कई लोगों में मोटापे को भी ट्रिगर कर सकता है. इसलिए कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने से बचें.

इन तमाम चीजों के अलावा अगर आपको अपने दिल को दुरुस्त रखना है, तो सबसे पहले एक्सरसाइज़ करना शुरू करें. आप दिल को स्वस्थ रखने के लिए कार्डियो एक्सरसाइज़ की भी मदद ले सकते हैं, जो कि आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करती हैं. वहीं इससे आपका स्ट्रेस भी कम होता है. दूसरा ये कि खाने में चीनी, नमक और अनहेल्दी फैट को कम करें, जो कि कोलेस्ट्रोल को प्रभावित करते हैं. साथ ही, खूब सारे विटामिन और फाइबर वाली चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें.

Chanakya Niti: धनवान बनना है तो भूलकर भी न करें ये काम, जानिए आज की चाणक्य नीति



Source link

About healthfortnight

Share and Enjoy !

0Shares
0 0
Close