Know Different Types Of Stomach Aches, How Can You Manage With The Help Of Home Remedies


किसी को पेट का दर्द कई वजहों से हो सकता है. कब्ज, डायरिया, तनाव, गैस, ब्लोटिंग, लैक्टोज इन्टॉलरेंस और पेट में सामान्य से ज्यादा एसिड का बनना यानी एसिड रिफ्लेक्स पेट दर्द के प्रमुख कारण हैं. समस्या का इलाज कई तरह से किया जा सकता है. पोषण आहार विशेषज्ञ कृष्मा चावला ने बताया है कि कैसे आप विभिन्न प्रकार के पेट दर्द को देसी उपाय की मदद से नियंत्रित कर सकते हैं.

एसिड रिफ्लेक्स- पेट में सामान्य से कम एसिड का बनना, मैग्नीशियम की कमी, खास भोजन और बहुत जल्दी खाना खाने से समस्या हो सकती है. आराम के लिए, आपको तीखे भोजन, अल्कोहल और मसालेदार भोजन के इस्तेमाल से बचना होगा. सुबह में एलोवेरा जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा, खाने से पहले पेट के एसिड स्राव के लिए सौंफ और काली जीरा का पानी फायदा पहुंचा सकता है.

कब्ज- आहार में फाइबर की कमी, प्रोसेस्ड फूड्स, बहुत ज्यादा डेयरी, दवाई का सेवन, डिहाइड्रेशन, शौच करने की इच्छा को अनदेखा करना, व्यायाम या गति की कमी या तनाव से कब्ज होता है. पुराने कब्ज से गैस उत्पादन, पेट की ब्लोटिंग और दर्द हो सकता है. डाइट में बदलाव लाकर आप समस्या से निजात पा सकते हैं. इसके लिए साबुत अनाज जैसे दलिया, फलियां, फल, फाइबर से भरपूर गहरी हरी पत्तेदार सब्जियां, नाशपाती, पपीता, दिन की शुरुआत में पानी और तरल जैसे नींबू पानी का सेवन उपयुक्त है.

जीवनशैली के उपायों में योगा, सही समय पर सोना और जागना भी शामिल हैं. रिफाइन, गहरा तला और बहुत ज्यादा शुगर वाले फूड्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए. काला नमक का इस्तेमाल गैस और ब्लोटिंग दूर करने और पाचन में मदद कर सकता है. अदरक गैस, कब्ज से आराम देने और संक्रमण के खिलाफ मदद करता है.

डायरिया- वायरल संक्रमण, दवाइयां, फूड एलर्जी और फूड सेंसिटिविटी के कारण डायरिया हो सकता है. डायरिया प्रबंधन में नारियल पानी के साथ तरल का संतुलन, छाछ, नमकीन चावल कांजी या नींबू, शुगर, नमकीन ड्रिंक शामिल है.

गैस और ब्लोटिंग- ये फूड सेंसिटिविटी, कब्ज या पेट दर्द के लिए अग्रणी अपच के नतीजे से हो सकते हैं. गैस बनाने वाले फूड से परहेज, फाइबर में भरपूर डाइट का सेवन, पर्याप्त पानी का इस्तेमाल और भोजन को अच्छे तरीके से चबाकर समस्या पर काबू पाया जा सकता है. भोजन को तोड़ने और पोषण को अवशोषित करने में मददगार जड़ी-बूटी जैसे हल्दी का इस्तेमाल भी मुफीद रहेगा.

Food Combination: कभी एक साथ न खाएं इन चीजों को, जानें बैड फूड हैबिट्स के बारे में

Health Tips: इन वजहों से होता है फैटी लिवर, जानें कारण और बचाव के उपाय

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Share and Enjoy !

0Shares
0 0
Close