अगर दिमाग करना हो तेज तो अपनाए ये तरीका!

    0
    133

    टोरंटो: एक नये अध्ययन में सामने आया है कि वाद्य यंत्र को सीखने और एक नई भाषा को बोलना सीखने से आपका दिमाग ज्यादा प्रभावी तरीके से काम करने में सक्षम हो सकता है. अध्ययन में पाया गया कि संगीतज्ञों और द्विभाषी लोग में काम की याद्दाश्त बेहतर होती है. न्यूयॉर्क एकेडमी ऑफ साइंसेज के जर्नल एन्नल्स में प्रकाशित अध्ययन में शोधकर्ताओं ने कहा कि संगीत या एक से ज्यादा भाषाओं की जानकारी की पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति विभिन्न दिमागी नेटवर्क सक्रिय करते हैं और उनकी दिमागी गतिविधि कम होती है.

    कनाडा में बेक्रेस्ट्स रॉटमैन रिसर्च इंस्टीट्यूट के वरिष्ठ वैज्ञानिक क्लाउडे अलेन ने कहा,‘‘ये नतीजे दिखाते हैं कि समान काम करने के लिये संगीतकारों और द्विभाषियों को कम प्रयास करने पड़ते हैं, यह ज्ञान संबंधी गिरावट के खिलाफ भी उनका बचाव करती है और डिमेंशिया के खतरों को भी टालती है.’’ अलेन ने कहा, ‘‘हमारे नतीजे यह भी दिखाते हैं कि एक व्यक्ति के अनुभव, जो एक वाद्य यंत्र बजाना सीखता है या एक अन्य भाषा सीखता है, यह तय कर सकते हैं कि दिमाग कैसे काम करता है और किस नेटवर्क का इस्तेमाल होता है.’’

    संगीतकार और द्विभाषी लोग दिखाते हैं कि उनमें काम को लेकर बेहद अच्छी याद्दाश्त , चीजों को दिमाग में रखने की बेहतर क्षमता जैसे फोन नंबरों, निर्देशों को याद रखना, और दिमागी गणित की अच्छी क्षमता होती है.

    महिलाओं का दिमाग होता है पुरुषों की तुलना में ज्यादा एक्टिव : अध्ययन
    महिलाओं का दिमाग पुरुषों की तुलना में विशेषकर ध्यान केंद्रित करने,आवेश नियंत्रण,भाव और तनाव के क्षेत्रों में अधिक सक्रिय होता हैं. एक अध्ययन में यह सामने आया है जिसमें 46,034 मस्तिष्कों का इमेजिंग अध्ययन किया गया. इस अध्ययन में महिलाओं का दिमाग पुरुषों की तुलना में कुछ क्षेत्रों में अधिक सक्रिय पाया गया. अमेरिका में अमेन क्लीनिक्स के संस्थापक और जर्नल आफ अल्जाइमर डिसीज में प्रकाशित इस अध्ययन के प्रमुख लेखक डेनियल जी अमेन ने बताया कि लिंग आधारित मस्तिष्क भिन्नताओं को समझने के लिए यह अध्ययन बहुत महत्वपूर्ण हैं.

    उन्होंने कहा,‘‘ हमने पुरुषों और महिलाओं के बीच ऐसी भिन्नताओं को चिन्हित किया हैं जो अल्जाइमर बीमारी जैसे मस्तिष्क से जुड़े विकारों को लैंगिक आधार पर समझने के लिए महत्वपूर्ण हैं. अध्ययन में पाया गया कि महिलाओं का दिमाग विशेषकर आवेश नियंत्रण,ध्यान,भावुकता,भाव और तनाव के क्षेत्रों में पुरुषों की तुलना में अधिक सक्रिय पाया गया जबकि पुरुषों में मस्तिष्क के दृश्य और समन्वय केंद्र अधिक सक्रिय थे. स्पेक्ट (एकल फोटो उत्सर्जन गणना टोमोग्राफी) मस्तिष्क में रक्त प्रवाह का नापन कर सकता है. अध्ययन में 119 स्वस्थ लोगों और मस्तिष्क के आघात, द्विध्रुवी विकार, मनोदशा विकार, सिज़ोफ्रेनिया / मनोविकार के विभिन्न 26,683 रोगियों को शामिल किया गया। इन विषयों के लिए एकाग्रता वाले कार्य करते समय कुल 128 मस्तिष्क क्षेत्रों का विश्लेषण किया गया.zeenews

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0

    Close