अगर हाथ से हाथ मिले, दिल से दिल मिले , तो दर्द होगा दूर : नई स्टडी

    0
    175

    वाशिंगटन. हाथ से हाथ मिले, दिल से मिले दिल, दर्द होगा दूर जी हां, अगर आप पिता बनने वाले हैं और आपकी पत्नी प्रसव पीड़ा सहन कर रही हैं तो नए अध्ययन की ये बातें आपके लिये उपयोगी साबित हो सकती हैं. दरअसल, एक नए अध्ययन में यह पता चला है कि पार्टनर की तकलीफ के वक्त अगर आप अपने हाथों में उनका हाथ पकड़ते हैं तो आपके दिल और सांसों के तार उनसे कुछ इस तरह मिल जाते हैं कि उनकी पीड़ा कम हो जाती है.

    22 युगलों पर किया गया अध्ययन

    अमेरिका के बोल्डर स्थित यूनीवसर्टिी ऑफ कोलोराडो में 22 युगलों पर एक अध्ययन किया गया. इस घटना में आश्चर्यजनक रूप से यह बात निकलकर सामने आई कि जो दो व्यक्ति साथ रह रहे थे, उन्होंने एक दूसरे में अपना अक्स देखना शुरू कर दिया.

    ‘पटर्नर जितना हमदर्द हो दर्द में उतना ही प्रभावी होगा’

    यूनीवसर्टिी ऑफ कोलोराडो से पावेल गोल्डस्टीन ने बताया, ‘आपका पार्टनर जितना हमदर्द होगा आपकी पीड़ा में यह उतना ही प्रभावी होगा और जब दोनों एक दूसरे के स्पर्श को महसूस करेंगे तो उनके बीच इस तार के मिलने की गति भी उतनी ही तेज होगी।’ हालिया अध्ययन में यह भी पता चला है कि जब लोग साथ में कोई भावुक फिल्म देखते हैं या साथ में गाते हैं, तब भी उनके दिल और सांसों की गति लगभग समान हो जाती है।

    ‘साइंटिफिक रिपोर्ट्स’ नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है अध्ययन

    शोध में यह भी पता चला है कि जब नेता और उनके प्रशंसकों के बीच अच्छी तालमेल होती है तब उनकी सोच भी समान हो जाती है. इतना ही नहीं अगर कोई प्रेमी जोड़ा एक दूसरे के साथ हो तो उनके दिल और दिमाग की गति लगभग समान हो जाती है.यह हालिया अध्ययन, ‘साइंटिफिक रिपोर्ट्स’ नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0