इन कारणों से बच्चे पैदा हो सकता है बेहरा, ऐसे करें बेहरेपन की पहचान

    0
    267

    नई दिल्ली. देश में हर साल 27 हजार से ज्यादा नवजात सुनने में असमर्थता के साथ पैदा होते हैं, वहीं विश्व में इनकी संख्या 3.6 करोड़ से ज्यादा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन द्वारा जारी 2012 के आंकड़ों में इस बात का खुलासा हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक, विश्व में कुल 3.2 करोड़ बच्चे बहरेपन का शिकार हैं, जिसमें से 60 फीसदी को बचपन में इस बीमारी से बचाया जा सकता था।

    भारत में नवजातों के सुनने में असमर्थता की समस्या पर सर गंगाराम अस्पताल में वरिष्ठ ईएनटी व कॉक्लियर इंप्लांट सर्जन डॉ. शलभ शर्मा ने आईएएनएस को बताया- नवजातों में सुनने में असमर्थता होने के पीछे वंशानुगत व अवंशानुगत, आनुवंशिक कारकों, गर्भावस्था और प्रसव के दौरान समस्या जैसे कई कारण होते हैं। भारत में 6.3 फीसदी लोग सुनने में असमर्थता से ग्रस्त हैं। शहरी इलाकों की तुलना में ग्रामीण इलाकों में बहरेपन से अधिक लोग ग्रस्त पाए जाते हैं।

    Infant-baby

    ऐसे करें बेहरेपन की पहचान
    डॉ. शलभ शर्मा के मुताबिक वहीं चार से नौ महीने का बच्चा क्या परिचित ध्वनियों की ओर आंखें मोड़ता है? बात करते वक्त हंसता है? झुनझुने और अन्य आवाज करने वाले खिलौने की तरफ आकर्षित होता है? विभिन्न जरूरतों के लिए रोता है? बड़बड़ाने वाली आवाजें निकालता है?”इसके अलावा नौ से 15 महीनों के बच्चों के बारे में उन्होंने बताया कि क्या बच्चा नाम पुकारने पर प्रतिक्रिया देता है? आप आपने बच्चों में इस तरह से सुनने में असमर्थता का पता लगा सकते हैं, इसमें कमी पाए जाने पर डॉक्टर से मुलाकात जरूर करें।

    Infant-baby

    इन कारणों से होते हैं बहरे 
    वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन द्वारा जारी सुनने में असमर्थता के कारणों पर डॉ. शर्मा ने बताया- इसमें प्रसव के दौरान माताओं के साइटोटॉक्सिक दवाओं और कुछ एंटीबायोटिक्स के संपर्क में आने, नवजात को होने वाला पीलिया, दम घुटना/हाइपोक्सिया, जन्म के वक्त शिशु का वजन कम होना, टॉर्च संक्रमण और दवाओं के संपर्क में आने से नवजात बहरेपन का शिकार हो सकते हैं। बहरेपन का पता लगाने के लिए दो चरण परीक्षण किया जा सकता है। दो चरणों की जांच में दो अलग-अलग इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिकल उपायों ओएई और एबीआर के इस्तेमाल से असफल पैटर्न का पता लगाया जा सकता है।timesnownews

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0