कहीं आप हाई ब्लड प्रेशर के मरीज तो नहीं? तो ये खाएं और बीमारी दूर भगाएं

    0
    696

    नई दिल्ली : हाई ब्लड प्रेशर यानी उच्च रक्तचाप हमारी जीवनशैली से जुड़ी बीमारी है। हम अपना खानपान, जीवनशैली और वजन दुरुस्त कर लें, तो ब्लड प्रेशर भी सही रहेगा। द ग्रेट इंडिया बीपी सर्वे के मुताबिक देश में एक-तिहाई से ज्यादा लोग हाई ब्लड प्रेशर यानी उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं। सर्वे से यह भी सामने आया है कि 42 फीसदी लोगों का रक्तचाप दवाइयां लेने के बावजूद अनियंत्रित रहता है। इसके लिए जरूरी है कि इसके बारे में हमें पूरी जानकारी हो। मसलन हमारी जीवनशैली क्या हो, खाने में क्या खाएं क्या न खाएं आदि।

    आमतौर पर अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो आपके लिए ड्राई फ्रुट्स और नट्स काफी फायदेमंद साबित हो सकते हैं। रोजाना एक मुट्ठी पिस्ता खाने से भी आपका ब्लड प्रेशर नहीं बढेगा, क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट पाई जाती है जो ब्लड प्रेशर को कम करता है। इसके अलावा खानपान में कुछ अन्य खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल कर आप हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर सकते हैं।

    लहसुन :  इसमें एक विशेष प्रकार का प्रोटीन होता है जो हमारी रक्त वाहिकाओं को कंट्रोल करता है। इसमें मौजूद एडिनोसिन रक्त धमनियों को फैला देता है और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है। कच्चा लहसुन ज्यादा फायदेमंद होता है। तीन महीने तक सुबह खाली पेट लहसुन की दो कलियां खाने से ब्लड प्रेशर पूरी तरह नियंत्रित हो जाता है।

    व्हीटग्रास जूस :  हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए व्हीटग्रास अमृत की तरह होता है। इसमें मैग्नीशियम और पोटाशियम भरपूर मात्रा में होता है। ये मिनरल ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं, जबकि शरीर में इनकी कमी ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है।

    रक्त धमनियों को राहत पहुंचाकर और शरीर से अतिरिक्त पानी व नमक को हटाकर पोटाशियम ब्लड प्रेशर को काबू करता है। केला, पपीता, तरबूज, खरबूजा और आड़ू में पोटाशियम होता है। आलू, टमाटर, संतरा, पालक, सोयाबीन, बादाम, साबुत अनाज, दालें और फलों के ताजे रस से भी पोटाशियम मिलता है।

    मांसाहार भोजन में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है। ज्यादा प्रोटीन शरीर से कैल्शियम सोखने लगता है जिससे ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है। विशेषज्ञ मानते हैं कि हाइपरटेंशन ज्यादा सोडियम के कारण ही नहीं, बल्कि कैल्शियम की कमी के कारण भी होता है। कैल्शियम से भरपूर दूध, दही, पालक, पत्तेदार सब्जियां, काबुली चना, मेथी, ज्वार, बाजरा जैसी चीजें खाने से ज्यादा सोडियम का असर कम हो जाता है। हाई ब्लड प्रेशर की वजह मैग्नीशियम की कमी भी होती है। मैग्नीशियम के प्राकृतिक स्रोतों में मेवे, साबुत अनाज, चोकर, पत्तेदार सब्जियां शामिल हैं।

    लक्षण : हाई ब्लड प्रेशर से चक्कर आने लगता है। किसी काम में मन नहीं लगेगा और आप अनिद्रा के शिकार हो जाएंगे। ज्यादा मात्रा में नमक खाना ब्लड प्रेशर को बढ़ावा देने जैसा होता है।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0