केवीआईसी ने पोखरण के बर्तन बनाने की प्राचीन कला को पुनर्जीवित किया

0
186

[ad_1]

राजस्थान के जैसलमेर जिले के एक छोटे से शहर, पोखरण की एक समय सबसे प्रसिद्ध रही बर्तनों की कला को पुनः प्राप्ति के लिए, जहां पर भारत ने अपना पहला परमाणु परीक्षण किया था, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने आज पोखरण में 80 कुम्हारों के परिवार को 80 इलेक्ट्रिक पॉटर चाकों का वितरण किया, जिनके पास टेराकोटा उत्पादों की समृद्ध विरासत मौजूद है।

[ad_2]

Source link

Share and Enjoy !

0Shares
0 0