खुश होते हैं तो 97 प्रतिशत युवा और अमीर नाश्ते में लेते हैं फ्रूट एंड ड्राईफ्रूट

    0
    1097

    नर्इ दिल्ली।

    जैसा खाए अन्न, वैसा होए मन। यह कहावत तो आपने सुनी ही होगी। अब समय के साथ इसमें भी बदलाव आ गया है। अब आपके खान—पान पर आपके व्यवहार का प्रभाव पड़ता है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 97 प्रतिशत युवा और अमीर भारतीय जब भी खुश होते हैं तो वे नाश्ते में बादाम, फल और अन्य सूखे मेवे लेना पसंद करते हैं। इसका खुलासा मार्केट रिसर्च कंपनी लेप्सोस के सर्वे में गया है।

    सर्वे की मानें तो युवा और अमीर वयस्क भारतीयों में से ज्यादतर के लिए नाश्ता करना अपनी खुशी जाहिर करने का तरीका है। इस सर्वे में दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, हैदराबाद, चंड़ीगढ़, नागपुर, भोपाल और कोयंबतूर के 18 से 35 साल के कुल 3,037 अमीर शहरी पुरुष और महिलाओं की राय जानी गई। इन शहरों में बेंगलूरू में 99 प्रतिशत, चंडीगढ़ में 99 प्रतिशत और कोयंबतूर में भी 99 प्रतिशत लोगों ने खुशी के मौके पर नाश्ते में बादाम खाने की बात स्वीकार की।

     ये 6 चीजें खाने से गायब हो जाएगी टमी, पेट हो जाएगा फ्लैट

    उनका कहना है कि जब भी खुश होते हैं तो नाश्ते में बादाम, फल और अन्य सूखे मेवे खाना पसंद करते हैं। सर्वे में कहा गया, युवा और अमीर वयस्क भारतीय अपने नाश्ते में लजीज, मजेदार, गरमा—गरम और करारी डिस चाहते हैं, लेकिन साथ ही वे सेहतमंद, पौष्टिक और एनर्जी से भरपूर नाश्ता भी करना चाहते हैं। इससे पता चलता है कि लोगों की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव आया है और सेहतमंद नाश्ते की ओर उनका रूझान बढ़ा है।

     रात में सोने से पहले जरूर चाहिए नहाना, जानिए क्यों

    तनाव होने पर करते हैं नाश्ता

    सर्वे में यह भी पता चला कि तनाव के दौरान 30 फीसदी लोग भूख नहीं लगने के बावजूद ज्यादा मात्रा में नाश्ता करते हैं। इसमें बेंगलुरू और हैदराबाद के लोग शामिल हैं, जबकि मुंबई, चंडीगढ़ और भोपाल के लोग तनाव में रहने के दौरान नाश्ता नहीं करना चाहते हैं।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0