खूब दिल खोलकर लड़ाएं गप्पे, सेहत के लिए है फायदेमंद

    0
    786
    दोस्तों से गप्पे लड़ाने और हंसी-ठिठोली करने में संकोच न करें। कोई टोके तब भी नहीं। अकसर झुंड में खड़े दोस्तों की मंडली को गप्पे लड़ाते, हंसते देखकर दूसरों के पेट में दर्द हो जाता है। पड़ोसी आपके बच्चों को आवारा घोषित कर देने में कसर नहीं छोड़ते। लेकिन अब ऐसा होता है तो भी गप्पे लड़ाने में संकोच ना करें। क्योंकि हाल ही हुए एक रिसर्च के नतीजे ये बताते हैं कि गप्पे सेहत के लिए फायदेमंद हैं।
    रिसर्च बताता है कि किसी बात को मन में ही रखना मानसिक सेहत के लिए तो खराब है ही शारीरिक तौर पर भी ये आपको नुकसान पहुंचाता है। दिल में दबे राज आपको मानसिक बीमार बना सकते हैं, आपकी बहुत एनर्जी खपा सकते हैं।
    न्यूयॉर्क के बिजनेस स्कूल ऑव कोलंबियां से जुड़े असिस्टेंट प्रोफेसर माइकल स्लेपियन का कहना है कि ऑफिस में किसी भी मुद्दे से जुड़े इश्यू को दिल में दबाकर रखना सेहत के लिए हानिकारक है। इससे आप मनोवैज्ञानिक दबाव महसूस करते हैं जिसकी परिणीति तनाव और हताशा के रूप में सामने आ सकती है।
    स्लेपियन कहते हैं कि जो लोग जितने ज्यादा राज दिल में दबाकर रखते हैं उतना ही आप अपनी जिंदगी को दुश्वार बनाते जाते हैं। जिंदगी उतनी ही चैलेंजिंग होती जाती है और आप इन चुनौतियों से निपटने के प्रति उतने ही कम प्रोत्साहित होते हैं। इसलिए दिल में राज दबाकर रखने की बजाय अपने आसपास के लोगों से घुलें मिलें खूब गप्पे लड़ाएं और दिल को हल्का रखें। जीने का अंदाज बदल दें और खूब दिल खोलकर हंसे, गप्पे मारें।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0

    Close