जानिए Yoga करने से आप के स्वास्थ्य को मिल सकते है क्या-क्या लाभ

    0
    333

    Yoga एक प्राचीन कला है, जिसकी उत्पत्ति भारत में लगभग 6000 साल पहले हुई थी। पहले समय में, लोग अपने दैनिक जीवन में योग और ध्यान, जीवनभर स्वस्थ बने रहने के लिए किया करते थे। योग एक वैज्ञानिक व्यायाम पद्धति है। यह अपने आप में एक सम्पूर्ण व्यायाम है। योग के जरिये व्यक्ति को ना केवल शारारिक बल्कि मानसिक और आध्यात्मिक लाभ भी मिलते है।

    आपके शरीर के रसायन के साथ जो कुछ भी हो रहा होता है वो आपके अंदर के ऊर्जा प्रवाह से नियंत्रित होता है। फिर भी, इस भीड़ वाले व्यस्त वातावरण में योग करना दिन प्रति दिन कम होता जा रहा है। योग बहुत ही सुरक्षित क्रिया है और किसी के भी द्वारा किसी भी समय की जा सकती है, यहाँ तक कि इससे बच्चे भी लाभ ले सकते हैं।

    Yoga वह क्रिया है, जिसके अन्तर्गत शरीर के विभिन्न भागों को एक साथ लाकर शरीर, मस्तिष्क और आत्मा को सन्तुलित किया जाता है। पहले समय में, योग का अभ्यास ध्यान की क्रिया के साथ किया जाता था। यह स्वस्थ जीवन शैली और हमेशा के लिए बेहतर जीवन जीने में सहायता करता है।

    Health शब्द की उत्पत्ति

    अंग्रेजी में “health” शब्द की उत्पत्ति “whole” से हुई है, जिसका अर्थ होता है “पूरा का पूरा”, अगर कोई अपने भीतर संपूर्णता का अनुभव करना चाहता है तो ये आवश्यक है कि शरीर और दिमाग के अलावा उसकी ऊर्जा भी एक निश्चित तीव्रता के साथ सक्रिय रहे। हिंदी में भी स्वास्थ्य को संपूर्णता के संदर्भ में देखा जाता है। अगर आपकी ऊर्जा अपने समुचित संतुलन में है और पूरी तरह से प्रवाहित हो रही है, तो आप शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दोनों ही तरह से पूरे स्वस्थ रहेंगे।

    जानिए Yoga करने से आप के स्वास्थ्य को मिल सकते है क्या-क्या लाभ

    वहीं Yoga स्वास्थ्य की व्याख्या मूलतत्व से जोड़कर करता है। एक सही योगाभ्यास का मतलब है, अपने एनर्जी सिस्टम की जड़ों में जाना।

    इससे आपकी ऊर्जा कुछ इस तरह सक्रिय और स्थापित होती है, जिससे शरीर और दिमाग अपने आप पूरी क्षमता के साथ क्रियाशील हो जाते हैं। शरीर का निर्माण आपके स्वयं के ऊर्जा से होता है। Yoga से आप अपने अंदर की शक्ति को जान सकते हो, जिससे हम अपने सृजन के स्त्रोत को ढूंढ़ते हैं।

    जब आप निर्माता को जानते हों तो, आप निश्चित रूप से निर्माता के पास ही जाना चाहेंगे। योग का मतलब भी यही है- निर्माता के पास वापस जाना। अगर आप सृजन के स्त्रोत को क्रियाशील होने देते हैं, तो जो कुछ भी तय किया जाना चाहिए वह आसानी से होगा।

    Yoga का महत्व

    Yoga एक ऐसी कला है जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने का प्रयास किया जाता है। इन तीनो के एक साथ आने से जो अनंत ऊर्जा मिलती है, यह ऊर्जा ही जीवनी-शक्ति कहलाती है। इस शक्ति के द्वारा हम न सिर्फ एक अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त कर सकते हैं, बल्कि अपने जीवन को सार्थक और सफल बना सकते हैं।

    योग शरीर और मस्तिष्क को एक साथ सन्तुलित करके प्रकृति से जुड़ने का सबसे सुरक्षित माध्यम है। यह व्यायाम का एक प्रकार है, जिसमें शरीर के संतुलन और आहार, सांस की क्रिया के साथ ही शारीरिक आकृति को भी नियंत्रित करता है। यह शरीर और मस्तिष्क को ध्यान से जोड़ता है और जिसके माध्यम से शरीर को आराम मिलता है।

    यह शरीर और मस्तिष्क के ऊपर नियंत्रण रखने के साथ ही तनाव और चिन्ता को कम करके शरीर और मस्तिष्क के अच्छे स्वास्थ्य को प्राप्त करने में मदद करता है।

    Yoga करने से लाभ

    • मन को शांति मिलती हैं।
    • सम्पूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ावा देता हैं।
    • बेहतर रक्त संचार होता हैं।
    • तनाव को काम करता हैं।
    • वजन में होती हैं।
    • चिंता से राहत मिलती हैं।
    • प्रतिरोधक क्षमता में सुधार।
    • अधिक सजगता संग जीना।
    • संबंधों में सुधार।
    • ऊर्जा में वृद्धि।
    • आपकी एकाग्रता को बढाता हैं।
    • आपके चेहरे पर तेज लाता हैं।
    • आपके शरीर को चुस्त-दुरुस्त और फुर्तीला बनाता हैं।

    आप जब पूर्ण रूप से स्वस्थ होते हैं तब आप न केवल शारीरिक रूप से अपितु मानसिक एवं भावात्मक रूप से स्वस्थ होते हैं। यह जीवन की गतिशीलता हैं जो बताती हैं कि आप कितने ख़ुशी, प्रेम और ऊर्जा से भरे हुए हैं।”Yoga हमे बैठने का तरीका, प्राणायाम तथा ध्यान संयुक्त रूप से सिखाता हैं। नियमित रूप से अभ्यास करने वाले को असंख्य लाभ प्राप्त होते हैं।

    Yoga के लाभ यह भी हैं। सूर्य नमस्कार और कपालभाति प्राणायाम योग के साथ साथ शरीर के वजन में कमी लाते हैं। इसके अतिरिक्त नियमित रूप से योगाभ्यास इतनी समझ देता हैं कि हमे किस प्रकार का भोजन कब करना चाहिए? इसके अतिरिक्त यह वजन पर नियंत्रण रखने में सहायता करता हैं।

    सूर्य नमस्कार के आसन 

    जानिए Yoga करने से आप के स्वास्थ्य को मिल सकते है क्या-क्या लाभआपको केवल अपने नियमित दिनचर्या में योग को शामिल करना हैं जिससे आप प्रबलता, कोमलता और लचीलेपन से भरे रहे। नियमित योगाभ्यास आपके शरीर को मजबूत बनाता हैं और मांसपेशियों को सशक्त बनाता हैं। यह शरीर के बैठने, खड़े होने आदि स्थिति में सुधार लाता हैं। यह गलत तरीके से उठने, बैठने में सुधार लाता हैं। शारीरिक दर्द में आराम देता हैं।

    Yoga करते समय रखे ये सावधानियां

    Yoga करते समय रखे ये सावधानियां, वरना हो जाएगा नुकसान–योग फिटनेस का सबसे पॉपुलर माध्यम है, लेकिन इसे करते समय कुछ बातों का ध्यान रखा जाना जरूरी है। ऐसा नहीं होने पर योग से फायदा होने के बजाय नुकसान हो सकता है।

    आज हम आपको बता रहे है योग करते समय किन बातों का रखे ध्यान

    • शुरुआत से कठिन आसन न करें

    सरल से कठिन एक्सरसाइज करें। शुरुआत से ही कठिन आसन करने से आपको तकलीफ हो सकती है या फिर आप जल्दी थक सकते है।

    • Yoga के तुरंत बाद न नहाएं

    योग करने से शरीर गर्म हो जाता है इसलिए योग करने के एक घंटे बाद ही नहाएं, नहीं तो सर्दी-जुकाम, बदन दर्द जैसी तकलीफ हो सकती है।

    • खाने के तुरंत बाद योग न करे

    वज्रासन को छोड़कर सभी योग और खाने के बीच कम से कम 3 घंटों का अंतराल रखे, बेहतर है कि सुबह खली पेट योग करे।

    • Yoga हमेशा खुले और साफ सुथरे वातावरण में करे

    योग हमेशा साफ,खुली जगह में करे। प्राणायाम तो हमेशा खुली जगह में ही करना चाहिए जहां पर ताजी हवा मिलती हो।

    • पीठ, घुटने या मसल्स की प्रॉब्लम हो तो न करें योग

    पीठ, घुटने या मांसपेशी से संबंधित तकलीफ है तो योग करने से पहले ट्रेनर से सलाह जरूर ले।

    • आसन बिछाकर आरामदायक कपड़े पहनकर ही करें योग

    Yoga समतल जमीन पर आसन बिछाकर करें। मौसम के मुताबित ऐसे कपड़े पहनें जो न तो ज्यादा टाइट हो और न ही बहुत ढीले।

     

    rajexpress

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0