जोधपुर के एमजीएच अस्पताल ने छह घंटे ऑपरेशन से पीठ की मांसपेशी प्रत्यारोपित कर तैयार की एड़ी

0
626

बासनी/जोधपुर

महात्मा गांधी अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन्स की टीम ने मंगलवार को करीब छह घंटे तक ऑपरेशन कर एक घायल व्यक्ति की एड़ी फिर बना दी। अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन्स की टीम ने सर्जरी कर पीठ की मांसपेशी प्रत्यारोपित कर एड़ी का निर्माण किया। चिकित्सकों की मानें तो पश्चिमी राजस्थान में यह पहला मामला है जब प्रत्यारोपण से एड़ी का निर्माण किया गया है

महात्मा गांधी अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन डॉ. रजनीश गालवा ने बताया कि कुड़ी भगतासनी निवासी सोनाराम (28) का करीब डेढ़ माह पहले सड़क दुर्घटना में पैर क्षतिग्रस्त हो गया था। इसमें उसके बाएं पैर की एड़ी का मांस पूरी तरह से अलग हो गया। पहले तो मरीज का मथुरादास माथुर अस्पताल में फ्रैक्चर का इलाज चला। उसके बाद उसे करीब एक सप्ताह पहले महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

प्रत्यारोपित कर यूं तैयार की एड़ी

डॉ. गालवा ने बताया कि एड़ी फिर से बनाने के लिए प्लास्टिक सर्जन की टीम ने छह घंटे तक ऑपरेशन कर फ्री फ्लैप सर्जरी की। सर्जरी में मरीज की पीठ की मांसपेशी (लटिस्सिमस डॉर्सी) निकाल कर पैर की एड़ी में प्रत्यारोपित की गई। इसके लिए सर्जरी से पीठ की मांसपेशी की ख़ून की बारीक नसें पैर की नसों के साथ जोड़ी गईं। सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. अजय मालवीय ने बताया कि पश्चिमी राजस्थान में यह अपनी तरह की पहली सर्जरी है। सर्जरी करने वाली टीम में प्लास्टिक सर्जन डॉ. गालवा के अलावा डॉ. प्रकाश काला, डॉ. छैलाराम और डॉ. यूडी शर्मा सहित अन्य चिकित्साकर्मी शामिल थे।

डेढ़ माह बाद चलने लगेगा सोनाराम

डॉ. गालवा ने बताया कि मरीज सोनाराम की एड़ी करीब डेढ़ माह में सामान्य हो जाएगी। उसके बाद मरीज पहले की तरह चल सकेगा।

Share and Enjoy !

0Shares
0 0