…ताकि छुट्टियों में सफर के दौरान न होना पड़े इन समस्याओं से परेशान

    0
    423

    जयपुर

    गर्मी की छुट्टियों में सैर-सपाटे के दौरान अक्सर लोग सेहत को लेकर लापरवाह हो जाते हैं। इसका नुकसान उन्हें फूड पॉइजनिंग, पानी की कमी, त्वचा का झुलसना जैसी समस्याओं के रूप में होता है। यात्रा का आनंद उठाना चाहते हैं तो सेहत से जुड़ी कुछ बातों का पहले से ही ध्यान रखना चाहिए।

    फूड पॉइजनिंग 

    गर्मी में फूड  पॉइजनिंग, टायफाइड, पीलिया जैसी बीमारी होना आम है। इसकी वजह दूषित खानपान है। बैक्टीरिया, वायरस और परजीवी फूड पॉइजनिंग के तीन मुख्य कारक हैं। इससे बचने के लिए साफ-सुधरे स्थानों पर ताजे फूड और फ्रूट्स ही  खाएं क्योंकि ये पचने में आसान होते हैं। अधिक फैटी, दूध-चीज और निकोटीन वाले प्रोडक्ट से दूर रहें।

    बढ़ाएं लिक्विड डाइट

    यात्रा में खूब ज्यादा पानी पीएं। कुछ लोग प्यास बुझाने के लिए सॉफ्ट और कोल्ड ड्रिंक्स पीते हैं। यह गलत है। नारियल, नींबू पानी, छाछ और लस्सी पीना बेहतर विकल्प है।

    त्वचा को धूप से बचाएं

    बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन लगाएं और शरीर को पूरी तरह से कपड़े से ढकें। नियमित रूप से चेहरे को साफ करते रहें।

    ओआरएस का घोल लें

    ज्यादा पानी पीने के साथ फलों या जूस भी सफर में पीते रहें। अगर साथ में नवजात शिशु है तो उसमें पानी की कमी न हो इसलिए मां को अपना दूध पिलाते रहना चाहिए। 6 माह से अधिक उम्र के शिशु को पानी व ओआरएस घोल भी दें।  रास्ते में कहीं से भी पानी भर कर न पीएं। मिनरल और पैक्ड वॉटर का ही इस्तेमाल करें।

    सफाई रखें 

    यात्रा के दौरान सफाई पर विशेष ध्यान दें। सफाई के अभाव में वायरस शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण उनमें संक्रमण का अधिक खतरा रहता है। सफाई के अभाव में डायरिया, यूरिन इंफेक्शन, वायरल फीवर जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं। ऐसे में बच्चों का खास खयाल रखें।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0