फिट रहने के लिए करती हूं योग और डांस: जैक्लीन फर्नांडीज

    0
    981

    मिस श्रीलंका रह चुकीं खूबसूरत जैक्लीन अपनी फिटनेस को लेकर बहुत सजग रहती हैं। क्या-क्या करती हैं वे फिटनेस के लिए।

    आपके लिए फिटनेस का क्या अर्थ है?
    मेरे लिए केवल फिटनेस ही मायने नहीं रखती। मेरे लिए फिटनेस का अर्थ हेल्थ, फिटनेस और पोषण तीनों ही है। दरअसल हमलोग हर चीज को फिटनेस से जोड़ लेते हैं और बाकी चीजों को नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन फिट रहने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है स्वस्थ रहना। हम स्वस्थ तभी रह सकते हैं, जब नियमित रूप से व्यायाम के साथ-साथ अपने खानपान का भी खास ध्यान रखें।

    तो आप फिटनेस के लिए क्या-क्या करती हैं?
    फिटनेस के लिए अपनी डाइट से लेकर एक्सरसाइज तक हर चीज का ख्याल रखती हूं। वैसे तो मैं अपनी डाइट चार्ट को लेकर बहुत अधिक सख्त हूं, लेकिन कई बार आउटडोर शूटिंग या यात्रा के दौरान मुझे अपनी डाइट को स्मार्ट तरीके से प्लान करना पड़ता है। मैं ध्यान रखती हूं कि खाना ज्यादा मसाले वाला और ज्यादा तेल वाला न हो।

    किस प्रकार का व्यायाम आपको पसंद है?
    शरीर के अलग-अलग हिस्सों का व्यायाम करने के लिए मेरा पूरे सप्ताह का पैकेज रहता है, जिनमें वजन से लेकर कार्डियो तक सब कुछ शामिल होता है। लेकिन जब बात पसंद की हो तो मुङो योग और डांस बहुत पसंद है। डांस के रिद्म जहां मुझे सुकून का अहसास होता है, वहीं योग मेरे मन को शांत और एकाग्र करता है। वैसे मुझे स्विमिंग करना भी बहुत अच्छा लगता है। इन सभी की खास बात यह है कि ये शरीर के सारे हिस्से को सक्रिय रखते हैं।

    और डाइट में किस बात का खास ख्याल रखती हैं?
    मैं हमेशा अपनी डाइट में पौष्टिकता का खास ख्याल रखती हूं। शरीर को जितने विटामिन, मिनरल की जरूरत होती है, वो उसे मिलने चाहिए। जब भी मेरा मन पिज्जा, चॉकलेट, मीठा आदि खाने का करता है तो मैं खा लेती हूं। बस थोड़ी-सी बुद्धि का इस्तेमाल कर लेती हूं। जैसे पिज्जा खाने का मन किया तो उसमें न्यूट्रिशन के साथ कम काबरेहाइड्रेट वाली सब्जियां डलवाती हूं। सब कुछ खाती हूं, लेकिन स्मार्ट तरीके से। कभी मात्रा कम करके तो कभी उसमें कुछ फायदेमंद चीजें शामिल कर लेती हूं। कभी वसायुक्त चीजों को उसमें से निकाल देती हूं। खूब पानी पीती हूं, ताकि शरीर के टॉक्सिन्स निकल जाएं।

    आप अपनी सफलता को किस तरह से देखती हैं?
    मेरे लिए सफलता मेरे काम का हिस्सा है। यह वो मानदंड है, जो मेरे काम के प्रति मेरी जिम्मेदारी को बढम देता है। इसलिए हर सफलता जहां मुझे और जिम्मेदारी का अहसास कराती है, वहीं नाकामयाबी मुझे बहुत कुछ सीख भी देती है।

    आपको खुशी का अहसास कब होता है?
    मेरे लिए मेरा काम ही खुशी है, फिर चाहे वह शूटिंग हो या उसकी तैयारी। मुङो सबसे ज्यादा खुशी तब मिलती है, जब मैं काम करती हूं। उस वक्त मैं और सब कुछ भूल जाती हूं।

    जीवन के बारे में आप क्या सोचती हैं?
    मेरे लिए जीवन रिश्तों, काम, सोच, कामयाबी, नाकामयाबी इन सबका एक पैकेज है, जिसमें रिश्तों का सुकून है, प्यार का अहसास है, काम की जिम्मेदारी है और इन सबके बीच ढेर सारी खुशियां भी हैं।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0