मां ने की बेटे के पैर की मसाज, गलत नस दबने से हुई मौत

    0
    369

    नई दिल्लीः अगली बार आप जब शरीर के किसी हिस्से में लंबे समय से हो रहे किसी दर्द से निजात पाने के लिए मालिश कराने की सोचें तो यह ध्यान रखे कि यह आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है. एक दर्दनाक घटना के तहत बैडमिंटन खेलते हुए एड़ी में लगी चोट के बाद 23 वर्षीय एक व्यक्ति को अंदरनी नसों में खून का थक्का जमने से होने वाला डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) हो गया था और दर्द कम करने के लिए उसने अपनी मां से अपने पैर की मसाज कराई जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

    अब आपका ब्लड ग्रुप बताएगा हार्ट अटैक का रिस्क लेवल

    क्या था पूरा मामला

    दिल्ली निवासी इस व्यक्ति की गत वर्ष 15 सितंबर को बैडमिंटन खेलते हुए बायीं एड़ी में चोट लग गई थी जिसके बाद उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसके पैर को स्थिर रखने के लिए प्लास्टर लगाया गया. 17 अक्तूबर को प्लास्टर हटा दिया गया और वह सामान्य तौर पर चल सकता था. बाद में उसने बायीं पिंडली, बायीं एड़ी और पैर में दर्द तथा सूजन की शिकायत की जिसके बाद उसके टेस्ट किए गए जिसमें पता चला कि उसके पैर की नस में खून का थक्का जमा हुआ है.

    जानिए गहरी नींद का जवानी से क्या संबंध है? सर्वे में हुआ खुलासा

    एम्स में एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ फारेंसिक मेडिसिन चितरंजन बेहरा ने कहा, ‘‘जब फिर से दर्द हुआ तो उसकी मां ने उसकी बायीं पिंडली की मसाज की. मसाज के बाद उसे सीने में तेज दर्द हुआ, सांस लेने में दिक्कत हुई और वह बेहोश हो गया.’’ बेहरा के अनुसार व्यक्ति को बेहोशी की हालत में 31 अक्तूबर को एम्स के आपातकाल विभाग में लाया गया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.

    क्या है डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी)

    डीवीटी एक गंभीर स्थिति है जो व्यक्ति की अंदरनी नसों में खून का थक्का जमने से होती हैं. डॉक्टरों के अनुसार एड़ी में फ्रैक्चर के बाद अंदरनी नसों में खून का थक्का जमना असामान्य नहीं है लेकिन लोगों को मसाज करवाने में सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि कुछ मामलों में यह घातक साबित हो सकता है. एम्स के डॉक्टरों द्वारा पोस्टमार्टम किए जाने के दौरान यह मामला प्रकाश में आया. मेडिकल-लीगल जर्नल के ताजा अंक में यह मामला प्रकाशित हुआ है.

    उच्च वायु प्रदूषण से बढ़ सकता है स्तन कैंसर का खतरा

    पोस्टमार्टम से यह पुष्टि हुई कि 5 सेंटीमीटर लंबा और 1 सेंटीमीटर चौड़ा थक्का मसाज करने के कारण अपने स्थान से हट गया और फेफड़ों तक पहुंच गया जिसके कारण रकावट होने से व्यक्ति की तुरंत मौत हो गई

    नई दिल्लीः अगली बार आप जब शरीर के किसी हिस्से में लंबे समय से हो रहे किसी दर्द से निजात पाने के लिए मालिश कराने की सोचें तो यह ध्यान रखे कि यह आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है. एक दर्दनाक घटना के तहत बैडमिंटन खेलते हुए एड़ी में लगी चोट के बाद 23 वर्षीय एक व्यक्ति को अंदरनी नसों में खून का थक्का जमने से होने वाला डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी) हो गया था और दर्द कम करने के लिए उसने अपनी मां से अपने पैर की मसाज कराई जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

    अब आपका ब्लड ग्रुप बताएगा हार्ट अटैक का रिस्क लेवल

    क्या था पूरा मामला

    दिल्ली निवासी इस व्यक्ति की गत वर्ष 15 सितंबर को बैडमिंटन खेलते हुए बायीं एड़ी में चोट लग गई थी जिसके बाद उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसके पैर को स्थिर रखने के लिए प्लास्टर लगाया गया. 17 अक्तूबर को प्लास्टर हटा दिया गया और वह सामान्य तौर पर चल सकता था. बाद में उसने बायीं पिंडली, बायीं एड़ी और पैर में दर्द तथा सूजन की शिकायत की जिसके बाद उसके टेस्ट किए गए जिसमें पता चला कि उसके पैर की नस में खून का थक्का जमा हुआ है.

    जानिए गहरी नींद का जवानी से क्या संबंध है? सर्वे में हुआ खुलासा

    एम्स में एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ फारेंसिक मेडिसिन चितरंजन बेहरा ने कहा, ‘‘जब फिर से दर्द हुआ तो उसकी मां ने उसकी बायीं पिंडली की मसाज की. मसाज के बाद उसे सीने में तेज दर्द हुआ, सांस लेने में दिक्कत हुई और वह बेहोश हो गया.’’ बेहरा के अनुसार व्यक्ति को बेहोशी की हालत में 31 अक्तूबर को एम्स के आपातकाल विभाग में लाया गया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.

    क्या है डीप वीन थ्रोम्बोसिस (डीवीटी)

    डीवीटी एक गंभीर स्थिति है जो व्यक्ति की अंदरनी नसों में खून का थक्का जमने से होती हैं. डॉक्टरों के अनुसार एड़ी में फ्रैक्चर के बाद अंदरनी नसों में खून का थक्का जमना असामान्य नहीं है लेकिन लोगों को मसाज करवाने में सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि कुछ मामलों में यह घातक साबित हो सकता है. एम्स के डॉक्टरों द्वारा पोस्टमार्टम किए जाने के दौरान यह मामला प्रकाश में आया. मेडिकल-लीगल जर्नल के ताजा अंक में यह मामला प्रकाशित हुआ है.

    उच्च वायु प्रदूषण से बढ़ सकता है स्तन कैंसर का खतरा

    पोस्टमार्टम से यह पुष्टि हुई कि 5 सेंटीमीटर लंबा और 1 सेंटीमीटर चौड़ा थक्का मसाज करने के कारण अपने स्थान से हट गया और फेफड़ों तक पहुंच गया जिसके कारण रकावट होने से व्यक्ति की तुरंत मौत हो गई

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0