मां बनने के बाद बीस फीसदी महिलाओं में आ जाता है डिप्रेशन

    0
    1071

    जयपुर

    हर साल बीस हजार से ज्यादा युवा मां करती हैं आत्महत्या मां बनने के बाद अधिकांश महिलाएं डिप्रेशन में आ जाती हैं, डब्ल्यूएचओ के अनुसार विकासशील देशों में बीस फीसदी महिलाएं बच्चे के जन्म के बाद डिप्रेशन का शिकार हो जाती है।
    नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े भी बताते हैं कि बीस हजार से अधिक युवा मां जिनमें मुख्य रूप से घरेलू महिलाएं है, हर साल आत्महत्या करती हैं। किसानों के बाद आत्महत्या करने वालों में इनकी संख्या अधिक है।
    जानकारों की मानें तो यह एक बड़ा सवाल है कि पश्चिम यूरोप की तुलना में भारत में आत्महत्या करने वाली महिलाओं की संख्या ६-७ गुना अधिक है। ये हैं मां बनने के बाद आत्महत्या के कारण : नई मांओ में डिप्रेशन के कारणों में चिंता, रोने की आवाज, मूड स्विंग, नींद की कमी आदि कारण हो सकते हैं।
    इसके अलावा निजी जिंदगी में बदलाव, नकारात्मक विचार और मतिभ्रम की परेशानियों भी होती है। साथ ही अनियोजित गर्भधारण से लेकर शराबी पति, बेटे के लिए दबाव और हार्मोन्स में बदलाव भी एक कारण है।
     डॉक्टर मानते हैं कि १०० में से १५ महिलाओं को इस समय मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानी होती है। इस समय परिवार इन महिलाओं को डिप्रेशन से बाहर आने में काफी मददगार साबित हो सकता है। उसके अलावा सही समय पर इलाज मिलने से भी यह समस्या सुलझ सकती है।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0