मानवीय परीक्षणों में खरी उतरी शुगर की आयुर्वेदिक दवा बीजीआर-34

    0
    275

    नई दिल्ली

    भारत सरकार की वैज्ञानिक शोध संस्था सीएसआईआर द्वारा विकसित मधुमेह (शुगर) रोधी दवा बीजीआर-34  मानवीय परीक्षणों में भी खरी उतरी है।

    क्लिनिकल ट्रायल रजिस्ट्री ऑफ इंडिया (सीटीआरआई) ने दावा किया है कि यह दवा खून में शर्करा की मात्रा को घटाने एवं इंसुलिन का उत्र्सजन बढ़ाने में कारगर है।

    बीजीआर-34 पहली आयुर्वेदिक दवा है, जिसका क्लिनिकल ट्रायल किया गया है। सीएसआईआर के वैज्ञानिकों ने कहा कि आयुर्वेदिक दवाओं के लिए मानवीय परीक्षण करना एवं उसके आंकड़े सार्वजनिक करने की अनिवार्यता नहीं है।

    इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च ने क्लिनिक ट्रायल रजिस्ट्री की शुरुआत कुछ साल पहले की थी। तब से देश में जिन एलोपैथी दवाओं का क्लिनिकल ट्रायल होता है, उनका ब्योरा वेबसाइट पर देना अनिवार्य है।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0