मौसम चेंज हो रहा है, अगर दिखे ये लक्षण तो ना करें नजरअंदाज

    0
    148

    नई दिल्ली : जब भी मौसम चेंज होता है, तो ज्यादातर लोग बीमार होने लगते हैं. ऐसे मौसम में मन आलस से भर जाता है और शरीर थका-थका रहने लगता है. ऐसे में वायरल फीवर होने का चांस बढ़ जाता है, क्योंकि इस मौसम में वायरल फीवर के वायरस एक्टिव हो जाते हैं और गले पर असर डालना शुरू कर देते हैं. जिन लोगों को वायरल फीवर हो जाता है, उन्हें बहुत ही सावधानी से रहना चाहिए, क्योंकि दूसरे व्यक्ति को भी संक्रमण हो सकता है. यह फीवर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत ही आसानी से पहुंच जाता है और संक्रमित कर देता है.

    वायरल फीवर के लक्षण
    जब कोई व्यक्ति वायरल फीवर से संक्रमित हो जाता है, तो उसे थकान महसूस होने लगती है, शरीर में दर्द होने लगता है. इस तरह के लक्षण के दिखते ही तुरंत डॉक्टर से इलाज कराना चाहिए, क्योंकि सही समय पर इलाज नहीं होने से इसका संक्रमण दूसरे व्यक्ति को भी हो सकता है. सिर दर्द, शरीर दर्द, भूख नहीं लगना, जोड़ों में दर्द होना, आंखें लाल होना, खांसी और जुकाम होना, कमजोरी महसूस होना आदि वायरल फीवर के प्रमुख लक्षण हैं. इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत इलाज कराना चाहिए.

    कमजोर लोगों को होता है वायरल फीवर
    अगर आपके शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, तो वायरल फीवर होने का भी खतरा बना रहता है. अक्सर उन्हीं लोगों को यह फीवर होता है जिनका इम्यून सिस्टम मजबूत नहीं होता है. अगर वायरल फीवर का इलाज तुरंत नहीं करवाया जाता है, तो यह आपके इम्यून सिस्टम को और ज्यादा कमजोर कर देता है, जिससे किसी दूसरी बीमारी के होने का भी डर बना रहता है.

    ठंडा पानी पीने से बचना चाहिए
    चेंज हो रहे मौसम में फ्रिज में रखा ठंडा पानी और कोल्ड ड्रिंक पीने से बचना चाहिए. ठंडा पानी पीने से हमारे गले में वायरल फीवर का वायरस एक्टिव हो जाता है और यह हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर करना शुरू कर देता है. zeenews

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0