रंगारंग एस्टर मीडिया अवार्ड्स समारोह में मीडिया की सकारात्मक भूमिका पर रोशनी डाली गई

    0
    849

    Dubai, United Arab Emirates

    एस्टर मीडिया अवार्ड्स (Aster Media Awards) के उद्घाटन सत्र में जानी-मानी हस्तियों ने समाज को जोड़कर रखने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया और दोहराया कि सकारात्मक किस्म की पत्रकारिता का राष्ट्र पर भारी प्रभाव हो सकता है। नई दिल्ली में हाल में आयोजित एक रंगारंग समारोह में अंतरराष्ट्रीय श्रेणी में पुरस्कार सजीला शशिधरण और आनंद राज ने साझा किया। सजीला की रपट खलीज टाइम्स में छपी थी और आनंद राज की गल्फ न्यूज में। इसी तरह, बिजनेस टुडे की सारिका मल्होत्रा और हिन्दुस्तान टाइम्स के मनोज शर्मा नेशनल (भारत) श्रेणी के साझे विजेता रहे। क्षेत्रीय श्रेणी में मलयालम मनोरमा के सिनोज थॉमस को पुरस्कार मिला। आशीष शर्मा और असद अली को रिपोर्टिंग की गुणवत्ता के लिए निर्णायकों से विशेष उल्लेख मिला। यह एचटी ब्रंच पत्रिका में प्रकाशित रपट के लिए मिला। विजेताओं को 5,00,000 रुपए प्रत्येक के नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। कुल 25,00,000 (पच्चीस लाख) रुपए की राशि बतौर पुरस्कार दी गई।

    भारतीय संसद के उच्च सदन, राज्यसभा के उपाध्यक्ष प्रो. पीजे कुरियन ने कहा, “पत्रकारों को ‘मिशन’ मोड में काम करना होता है क्योंकि इससे लोग, सरकार और अन्य सभी घटक प्रभावित होते हैं।” पुरस्कार समारोह के दौरान दिखाए गए एक वीडियो में भारत सरकार के केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री माननीय श्री जेपी नड्डा ने कहा, “पत्रकारिता में यह क्षमता है कि देश की जनता, नीति और राजनीति को प्रभावित कर सके। मैं उम्मीद करता हूं कि और भी पत्रकार अपनी रिपोर्टिंग से सामाजिक बदलाव लाने में भूमिका निभाएंगे।” नीति आयोग के सीईओ श्री अमिताभ कांत ने माना कि सामाजिक प्रभाव वाली पत्रकारिता की प्रशंसा के लिए एस्टर मीडिया अवार्ड्स जैसे पुरस्कार की आवश्यकता है।

    समारोह में विशेषज्ञों ने स्वास्थ्य का अधिकार बुनियादी अधिकार पर भी चर्चा की। योजना आयोग की पूर्व सदस्य डॉ. सईदा हमीद ने कहा, “मीडिया लगातार इनक्लूसिव हो रहा है और पत्रकार अब दूरदराज के क्षेत्रों में जाते हैं ताकि वहां हो रहे विकास को जान सकें।” एम्स के डायरेक्टर डॉ. एमसी मिश्रा ने मीडिया से अपील की कि स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों को ज्यादा कवरेज दें। पबलिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के प्रोफेसर डॉ. रमनन लक्ष्मीनारायणन ने कहा, “गुजरे एक साल में भारत में दुनिया के किसी भी अन्य देश के मुकाबले ज्यादा बच्चों का टीकाकरण हुआ है पर भारत में बहुत कम लोगों को इस शानदार उपलब्धि की जानकारी है!” भारत के माननीय राष्ट्रपति के प्रेस सेक्रेट्री, श्री वेणु राजमणि ने कहा, “मीडिया को हेल्थकेयर के करीब एक सहयोगी के रूप में रखना महत्वपूर्ण है। इसका मल्टीप्लायर इफेक्ट हो सकता है।” एस्टर डीएम हेल्थकेयर के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक तथा एस्टर डीएम फाउंडेशन के संस्थापक और प्रबंध ट्रस्टी डॉ. आजाद मूपेन ने कहा, “टेक्नालॉजी जागरूकता के लिए एक जोरदार एनैबलर है। भारत की विविधतापूर्ण चुनौतियों और रिमोट लोकेशंस से हेल्थकेयर को भी स्मार्टली डिलीवर किया जा सकता है। एक ऐसे देश में जहां मोबाइल टेलीफोनी से सशक्त भारतीय एक दशक पुराने हैं वहां हेल्थकेयर की सेवाएं टेलीमेडिसिन जैसी टेक्नालॉजी के स्मार्ट उपयोग से पहुंचाई जा सकती है। आज के मीडिया को उन चीजों पर ध्यान देना चाहिए जिसकी आवश्यकता है और जो समाज में बदलाव का कारण बन सकता है।”

    एस्टर मीडिया अवार्ड्स समारोह में देश भर के 100 से ज्यादा मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

     

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0