रक्तदान कर छवि ने दी प्रेरणा

    0
    221

    जबलपुर। मरीजों को मुश्किल से रक्त उपलब्ध हो पाता है, प्रत्येक व्यक्ति को आगे आकर रक्तदान करना चाहिए। भविष्य में कलेक्ट्रेट में भी रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। ये उद्गार कलेक्टर छवि भारद्वाज ने एल्गिन अस्पताल में रक्तदान शिविर में व्यक्त किए। लोगों को प्रेरणा देने के लिए उन्होंने रक्तदान भी किया। इस मौके पर वेटरनरी विवि के कुलपति डॉ. प्रयाग दत्त जुयाल ने रक्तदान के प्रति जागरुकता बढ़ाने पर बल दिया। क्षेत्रीय स्वास्थ्य संचालक डॉ. रंजना गुप्ता ने ग्रामीण क्षेत्रो में रक्तदान की गतिविधियों को बढ़ाने एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट प्रारंभ करने की जानकारी दी। पैथोलॉजी विशेषज्ञ डॉ. संजय मिश्रा ने एल्गिन ब्लड बैंक में उपलब्ध सुविधाओं एवं रक्तदान से संबंधित वैज्ञानिक तथ्य बताए। युवाओं ने बनाए ग्रुप गौरतलब है कि रक्त की एक-एक बंद किसी जरूरत मंद की जान बचा सकती है। पहले लोगों में जागरुकता की कमी और रक्त की उपलब्धता न होने से पीड़ित को रक्त के लिए भटकना पड़ता था। अब युवाओं में रक्तदान के लिए इतना क्रेज बढ़ा है कि मोबाइल पर ब्लड डोनरों का ग्रुप सक्रिय है। रक्तदान दिवस पर शुक्रवार को एल्गिन अस्पताल के रक्तदान केन्द्र में शिविर लगाया गया। शिविर में 18 युवाओं ने रक्तदान किया। इस मौके पर सामाजिक संस्थाएं और कॉलेज के छात्र-छात्राएं मौजूद रहे। ये हैं नियमित रक्तदाता रक्तदान शिविर में कलेक्टर ने सर्वाधिक 132 बार रक्तदान करने वाले अंशुल मिश्रा को सम्मानित किया। इस मौके पर 20 बार रक्तदाता संध्या मिश्रा, 85 बार रक्तदान कर चुके सरबजीत सिंह, 80 बार रक्त दे चुके विकास शुक्ला भी उपस्थित रहे।

    इस तरह उपयोग होता है रक्त

    ब्लड डोनर्स के रक्त का चार चीजों में उपयोग होता है। रक्त से प्लाज्मा निकाला जाता है जो बर्न केसों में काम आता है। इसी तरह आरबीसी को भी अलग संग्रहित किया जाता है इसे आवश्यकता पड़ने पर मरीजों को दिया जाता है इसी प्रकार रक्त से प्लेलेट्स तैयार होती है इससे डेंगू, मलेरिया आदि से पीड़ितों को उपलब्ध कराया जाता है।

    शार्ट फिल्म से कर रहे जागरुक

    युवाओं को रक्तदान करने के लिए शहर के डोनर ग्रुप के देव पटेल ने जीरो बजट पर शॉर्ट फिल्म रक्तवीर कहानी रक्तदान की तैयार की, इसके माध्यम से उन्होंने एक्सीडेंट के समय ब्लड की समस्या को बताया। साथ ही लोगों को रक्तदान के लिए जागरुक किया। उन्होंने बताया कि उनके न्यूज हेल्थ ग्रुप में अब तक 5 हजार लोग जुड़ चुके हैं। इसके अलावा अंशुल नामदेव, विक्रम दुर्गवार, विनोद विश्वकर्मा, शिव शंकरसेन, महेन्द्र जैन और चरनजीत कौर हर महीने लगभग 80 जरूरतमंदों को ब्लड उपलब्ध करा रहे हैं।peoplessamachar

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0