राजस्थान: डॉक्टरों ने दी मासूम को नई जिंदगी, भोजन नली में अटका चने का दाना निकाला

    0
    820

    जयपुर

    10 माह के बच्चे की दो जगहों से बंद भोजन नली को खोलने में डॉक्टरों ने सफलता हासिल की। इस तरह की दूरबीन सर्जरी जटिल होती है। डॉक्टरों को भी दूरबीन से चार बार प्रयास करने के बाद इसमें सफलता मिली। इस बीमारी को चिकित्सा विज्ञान में कंजेनाइटल इसोफजियर स्ट्रिक्चर कहा जाता है।

    कैंसर कोशिकाओं को बढऩे से रोकता है जिमीकंद, गठिया में भी फायदेमंद

    भरतपुर निवासी ऋतिक की 10 माह से भोजन नली अवरूद्ध थी। इस कारण वह कुछ खाते ही उल्टी कर देता था। परिजनों ने उसे कई चिकित्सकों को दिखाया, किन्तु मर्ज समझ में नहीं आया। बच्चे का शरीर कमजोर पडऩे लगा, धीरे-धीरे खून की कमी होने लगी। धीरे-धीरे समय बीतने पर बच्चे की समस्या ज्यादा बढ़ गई।

    शकरकंद में भरा पड़ा है सेहत का खजाना, जानिए सर्दी में इसके सेवन के फायदे

    नली सिकुडऩे से फंसा था चने का दाना

    बच्चे ने पूरी तरह से खाना-पीना बंद कर दिया तो परिजनों ने बच्चे को महात्मा गांधी अस्पताल के पिडियाट्रिक गेस्ट्रोलॉजी विभाग में दिखाया।

    मोटापा कम करने से लेकर ग्रीन टी के हैं कई फायदे, लेकिन गलत समय पर पीना हो सकता है खतरनाक

    आंत व लिवर रोग विशेषज्ञ डॉ. नटवर परवाल ने भोजन नली की एंडोस्कोपी (दूरबीन की जांच) की तो पता चला कि भोजन नली के दो जगह से सिकुड़ जाने के कारण एक चने का दाना फंसा है।

    दाने को दूरबीन से निकालने के बाद बेरियम पिलाकर दोबारा एक्स-रे कराया तो पता चला कि भोजन नली दो जगह से सिकुड़ी हुई है। हर 2 महीने में बच्चे की भोजन नली का डाइलेटेशन किया गया। चार बार डाइलेटेशन के बाद (भोजन नली को दूरबीन से खोलना) बच्चा अब स्वस्थ्य है।

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0