Coronavirus Plan: After Testing Positive, What Should Be Your Next Steps?

    0
    116

    [ad_1]

    Coronavirus plan: जांच में पॉजिटिव होने की पुष्टि के बाद क्या करना चाहिए? ये सवाल महामारी के दौर में हर किसी के लिए जानना जरूरी हो गया है. हालांकि, कोरोना पॉजिटिव होने की खबर किसी के लिए भी अच्छी नहीं होती. जब एक बार आपको जानकारी हो जाती है, तो अगली कार्रवाई के लिए तैयार हो जाना चाहिए.

    80 फीसद कोरोना के मामलों में लक्षण हल्का या मध्यम होता है. इसलिए, हर मरीज को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं होती. आगे की कार्रवाई और इलाज के लिए जानकारी होने से रिकवरी का समय तेज हो सकता है. इसलिए, ‘कोविड प्लान’ की तैयारी आपको पहले से कर लेनी चाहिए.

    मेडिकल सुझाव के लिए डॉक्टर तक पहुंचना

    एक बार जब आपकी पहचान हो जाए, तो सबसे पहला काम डॉक्टर से सलाह लेने का होना चाहिए. दवाइयों से लेकर खान-पान में जरूरी बदलाव की उचित जानकारी डॉक्टर ही दे सकता है. अगर आपको एक से ज्यादा बीमारी है, या दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं की दवा कर रहे हैं, तो डॉक्टर को जरूर बताएं.

    परिजनों से खुद को आइसोलेट करें

    संक्रमण के खतरे से परिजनों को बचाने के लिए खुद को आइसोलेट करना अत्यंत आवश्यक है. अगर आपको होम क्वारंटाइन करने की सलाह दी गई है, तो कुछ नियमों का पालन करना चाहिए. वरना, अधिकारियों को सूचित कर उनके अगले कदम उठाने तक का इंतजार करें. अगर आपके क्वार्टर में कई लोग रह रहे हैं, और खुद को अकेले आइसोलेट नहीं कर सकते, तो अच्छी तरह हवादार कमरे में खुद को क्वारंटाइन करें. जिसमें अलग बाथरूम हो.

    अगले दो सप्ताह तक जरूरी उपयोग में इस्तेमाल होनेवाले सामान को अलग करें. बर्तन को किसी भी कीमत पर परिवार के अन्य सदस्यों के साथ साझा न करें. संक्रमण के जोखिम से बचने के लिए आपके पारिवारिक सदस्यों का भी कोविड-19 जांच होना चाहिए. एक ही छत के नीचे रहनेवाले लोगों को कम से कम एक सप्ताह तक क्वारंटाइन करना चाहिए.

    अपनी देखभाल करनेवाले का फैसला करें

    हालांकि, अगर आपका संक्रमण मामूली भी हो और आपको घर पर ठीक होने की इजाजत मिल गई है, फिर भी कोविड-19 मरीज को किसी की मदद की जरूरत होगी. आदर्श रूप में, देखभाल करनेवाला कोई ऐसा होना चाहिए जो युवा और स्वस्थ हो. इसके अलावा उसे पहले से कोई स्वास्थ्य समस्या भी न हो. अगर आप घर पर अकेले रहते हैं, तो एक सहयोगी बहुत जरूरी हो जाता है. खाने, किराने के सामान, दवाइयों, आपातकालीन स्थिति के लिए मददगार आपके साथ खड़ा होना चाहिए.

    किस तरह के इलाज की जरूरत होगी

    संक्रमण का लक्षण और गंभीरता पर सवाल का जवाब निर्भर करता है. अलग-अलग कोविड-19 के मरीजों को अलग इलाज के प्लान की जरूरत होती है. ऑक्सीमीटर के मौजूद होने से ब्लड में ऑक्सीजन लेवल जांचने की सुविधा हो जाती है. इसलिए, अगर आपको ब्लड प्रेशर या शुगर की समस्या है, तो ब्लड प्रेशर मॉनिटर और ग्लूकोमीटर पास होना चाहिए.

    किस तरह के लक्षणों को देखना चाहिए

    संक्रमित होने के दो सप्ताह में लक्षणों का पता लगाना जरूरी होता है. विशेषज्ञों का कहना है कि संकेत और संक्रमण की गंभीरता संक्रमित होने के 5-10 दिनों में बढ़ सकती है. 8-9वें दिन में आपका इम्यून सिस्टम थकना शुरू होता है और खतरनाक परिस्थिति का सामना करना पड़ सकता है. अगर मरीजों को इस दौरान लक्षण में कमी नहीं दिखाई देती है, तो उन्हें अतिरिक्त जांच कराने को कहा जा सकता है. श्वसन दर, असुविधा, सांस लेने में परेशानी जैसे संकेत पर ध्यान देना चाहिए. रोजाना लक्षणों में बदलाव और नब्ज का मुआयना करना भी मददगार हो सकता है.

    क्वारंटाइन का समय खत्म कब होना चाहिए 

    अब तक, 14 दिनों का समय क्वारंटाइन खत्म करने के लिए प्रयाप्त माना गया है. इसके बाद आइसोलेशन भी खत्म हो जाता है. अपने डॉक्टर से पूछकर जरूरी उपाय अपनाएं. रहनेवाली जगह को सेनेटाइज करें. बेकार के सामान को अलग कर आसपास की जगह को डिसइंफेक्ट करें. आइसलोशेन का समय खत्म होने से पहले ये उपाय आपको करने चाहिए.

    कंगना रनौत ने किया अपनी नई भाभी का स्वागत, शादी का वीडियो शेयर कर कहा ‘हमारे घर बेटी आई है’

    क्या दौड़ना वास्तव में आपके घुटनों के लिए फायदेमंद हो सकता है? शोधकर्ताओं ने किया चौंकाने वाला खुलासा

    [ad_2]

    Source link

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0