Oxford University Research On Corona Infection Revealed, People Suffering From Insomnia, Dementia And Anxiety

    0
    169

    [ad_1]

    नई दिल्लीः दुनियाभर में कोरोना मामलों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. वैश्विक स्तर पर अबतक पांच करोड़ 43 लाख 12 हजार मामले सामने आ चुके हैं. वहीं ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुए एक रिसर्च बताती है कि कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद लोग अनिद्रा, पागलपन और चिंता से ग्रस्त हो रहे हैं. जिसके परिणाम काफी भयावह हो सकते हैं.

    ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की इस रिसर्च को लैंसेट जर्नल में प्रकाशित किया गया था. अध्ययन में पाया गया कि कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों में अनिद्रा, पागलपन और चिंता की शिकायत सबसे आम थी. डिमेंशिया या पागलपन के हौरे उन लोगों में सबसे ज्यादा देखने को मिले जो 65 साल से अधिक की आयु के थे. अध्ययन में पाया गया कि ” एनजाइटी डिसऑर्डर, सामान्यीकृत चिंता डिसऑर्डर और कुछ हद तक पोस्ट-ट्रॉमैटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर और पैनिक डिसऑर्डर सबसे अधिक थे.”

    वहीं ब्रिटेन के कोरोनर्व ग्रुप ने अब एक बड़े डेटाबेस प्रदान किए हैं. जिसमें कहा गया है कि कोरोना मामलों में रोगियों में न्यूरोलॉजिकल और न्यूरोपैसाइट्रिक डिसऑर्डर को देखा गया है. अक्टूबर में ब्रिटिश मेडिकल जर्नल (बीएमजे) में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि कोरोना से मरने वालों रोगियों की शव के परीक्षण में मस्तिष्क में सूजन दिखाई दी है. जिससे न्यूरोइमेजिंग अध्ययनों ने ल्यूकोएन्सेफैलोपैथी नामक एक तंत्रिका संबंधी डिसऑर्डर का पता लगाया है.

    इसे भी पढ़ेंः
    डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकासनदायक है कोरोना और प्रदूषण, जानें कैसे करें बचाव

    सर्दियों में रुखे और टूटे बालों की समस्याओं से बचना होगा आसान, बस ध्यान में रखनी होगी ये कुछ बातें

    [ad_2]

    Source link

    Share and Enjoy !

    0Shares
    0 0